Thursday, October 18, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

सरकार ने बैंकिंग नियमों में किए बदलाव, ध्यान दें वर्ना पड़ सकते हैं मुश्किल में

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सरकार ने बैंकिंग नियमों में किए बदलाव, ध्यान दें वर्ना पड़ सकते हैं मुश्किल में

नई दिल्ली। केन्द्र सरकार ने बैंकों से पैसों के लेन-देन के नियमांे में बदलाव किया है। अगर आपने इन जरूरी बदलाव पर ध्यान नहीं दिया तो आपको परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। अब आपको न सिर्फ बैंक में जमा कराने वाले पैसों का हिसाब रखना होगा बल्कि खर्च होने वाली रकम के बारे में भी बैंक को जवाब देना होगा। आइए हम आपको आज बता रहे हैं कि किन बातों को ध्यान में रखकर आप परेशानी से बच सकते हैं। 

गौरतलब है कि आयकर विभाग के द्वारा कालेधन पर लगाम लगाने के लिए ये उपाय किए जा रहे हैं। इसके तहत इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करते समय कुछ सावधानी बरतनी होगी।

-बैंक में अगर आप एक फाइनेंशियल ईयर में एक या कई अकाउंट में कुल 10 लाख रुपए या इससे अधिक कैश जमा कराते हैं तो इस बात की जानकारी बैंक इनकम टैक्स विभाग को देगा। इस पर इनकम टैक्स विभाग आपसे पूछताछ कर सकता है।

ये भी पढ़ें - साहिबाबाद में पुलिस की वर्दी में बदमाशों ने व्यापारियों से लूटा 10 किलो सोना, तलाशी अभियान तेज


-अगर एक वित्त वर्ष में 10 लाख रुपए या इससे अधिक फिक्स्ड डिपॉजिट किया गया है तो भी बैंक इसकी जानकारी इनकम टैक्स डिपॉर्टमेंट को देगा।

-बैंक को 1 लाख रुपए इससे अधिक के क्रेडिट कार्ड बिल पेमेंट की जानकारी भी इनकम टैक्स विभाग को देनी होगी।

-एक फाइनेंशियनल ईयर में  लाख रुपए या इससे अधिक का क्रेडिट कार्ड ड्यू सेटल करने के लिए किसी भी मोड चेक, ऑनलाइन या कैश से किए गए पेमेंट की जानकारी बैंक को इनकम टैक्स विभाग को देनी होगी।

Todays Beets: