Wednesday, June 20, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

पाकिस्तान में नवाज शरीफ की सीट से चुनाव लड़ सकती हैं पत्नी कुलसुम या बेटी मरियम

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पाकिस्तान में नवाज शरीफ की सीट से चुनाव लड़ सकती हैं पत्नी कुलसुम या बेटी मरियम

इस्लामाबाद।

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की संसदीय सीट पर उनकी पत्नी कुलसुम नवाज या उनकी बेटी मरयम चुनाव लड़ सकती हैं। पिछले माह सुप्रीम कोर्ट द्वारा पनामा गेट मामले में दोषी ठहराए जाने के कारण शरीफ को न सिर्फ प्रधानमंत्री की कुर्सी छोड़नी पड़ी बल्कि नेशनल असेंबली की उनकी सदस्यता भी चली गई।

ये भी पढ़ें— पनामा पेपर मामले में नवाज शरीफ दोषी करार, छोड़ना होगा प्रधानमंत्री का पद

नवाज शरीफ की पार्टी पीएमएल—एन के एक नेता ने बताया कि पार्टी में कुलसुम को लेकर काफी सम्मान है क्योंकि वह कई पार्टी कार्यकर्ताओं के लिये साहस का प्रतीक हैं। पूर्व सैन्य तानाशाह परवेज मुशर्रफ ने जब 1999 के तख्तापलट के बाद शरीफ को जेल में डाल दिया था, तो उन्होंने ही पार्टी का नेतृत्व किया था। मरियम दूसरी पसंद हो सकती हैं। नेता ने बताया कि चुनाव कौन लड़ेगा, इस पर नवाज शरीफ अंतिम फैसला लेगें। लाहौर सीट पर उपचुनाव 17 सितंबर को होगा।


ये भी पढ़ें— पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के भाग्य का फैसला आज, पनामा पेपरगेट मामले में सुप्रीम कोर...

बता दें कि  इससे पहले माना जा रहा था कि नवाज शरीफ की सीट से उनके भाई और पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री शहबाज शरीफ चुनाव लड़ेंगे, ताकि उन्हें अगला पीएम बनाया जा सके, लेकिन कुछ पार्टी नेताओं के विरोध के बाद उनका नाम वापस ले लिया गया। इसके पीछे वजह बताते हुए पार्टी ने कहा कि शहबाज शरीफ को पंजाब का मुख्यमंत्री ही बने रहने देने का फैसला लिया गया है, ताकि वह प्रदेश में चल रही विकास योजनाओं को पूरा कर सकें।

 

Todays Beets: