Wednesday, June 20, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

अलगाववादी नेताओं को NIA कोर्ट ने 10 दिन की हिरासत पर भेजा

अंग्वाल संवाददाता
अलगाववादी नेताओं को NIA कोर्ट ने 10 दिन की हिरासत पर भेजा

नई दिल्ली। टेरर फंडिग के आरोप में गिरफ्तार हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के नेताओं को शुक्रवार दोपहर एनआईए की विशेष अदालत में पेश किया गया। इस दौरान एनआईए ने आरोपियों से पूछताछ के लिए उनकी रिमांड की मांग नहीं की थी, जिसके चलते कोर्ट ने हुर्रियत नेता एसएएस गिलानी के दामाद समेत चार कश्मीरी अलगाववादियों को एक बार फिर 10 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। इसके साथ ही कोर्ट ने गिरफ्तार अन्य अलगाववादियों को एक माह के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

यह भी पढ़े- हुर्रियत के अलागगवादी नेताओं को दिल्ली में नहीं मिल रहे वकील, गिलानी समेत अन्य नेताओं से भी होगी पूछताछ

आरोपियों की हुई कोर्ट में पेशी

पाकिस्तान से पैसे लेकर कश्मीर घाटी में हिंसा फैलाने के आरोप में हुर्रियत के अलगाववादियों नेताओं को राष्ट्रीय जांच एंजेसी ने हिरासत में लिया था। इन पर आरोप लगाया है कि यह घाटी में हिंसक गतिविधियों को बढ़ावा देते हैं। इसके लिए इन्हें पाकिस्तान की तरफ से मोटी रकम दी जाती है। कोर्ट ने शुक्रवार को एनआईए की विशेष अदालत में जस्टिस ओ.पी सैनी के सामने पेश किया। यहां से कोर्ट ने उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

यह भी पढ़े- अमेरिका ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थाई सदस्यता के समर्थन की पुष्टि की

हुर्रियत नेताओं को नहीं मिल रहें वकील


हुर्रियत के नेताओं की गिरफ्तारी के बाद से एक बात ओर उजागर हुई जिसमें उनके मामलें को कोर्ट मे पेश करने के लिए उनकी ओर कोई वकील तैयार नहीं हो रहा था।ऐसे में हुर्रियत उन वकीलों से बातचीत के प्रयास कर रहा है जो कहीं न कहीं अलगाववादी नेताओं के पक्ष में बयान देते रहें हैं।

 

 

 

 

 

Todays Beets: