Tuesday, November 20, 2018

Breaking News

   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||   बाजार में मंगलवार को आई बहार, सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त     ||   हिंदूराव अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में निकला सांप , हंगामा     ||   सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के आरोपों के बाद हो सकता है उनका लाइ डिटेक्टर टेस्ट    ||   देहरादून की मॉडल ने किया मुंबई में हंगामा , वाचमैन के साथ की हाथापाई , पुलिस आई तो उतार दिए कपड़े     ||   दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, दो जवान शहीद , दुरदर्शन के कैमरामैन की भी मौत     ||   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||

भारी आस्था के बीच आज शुरू होगी भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा, हजारों की तादाद में श्रद्धालु खीचेंगे रथ

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भारी आस्था के बीच आज शुरू होगी भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा, हजारों की तादाद में श्रद्धालु खीचेंगे रथ

नई दिल्ली। ओडिशा के जगन्नाथ पुरी में शनिवार से रथयात्रा शुरू हो रही है। इस रथ यात्रा के दौरान भगवान जगन्नाथ नगर भ्रमण को निकलेंगे। दोपहर 3 बजे से इस भव्य यात्रा की शुरुआत होगी। बता दें कि यात्रा शुरू होने से पहले 108 जोतों से भगवान की आरती उतारी जाएगी। दोपहर 12 बजे यात्रा को शुरू करने के लिए जुएं की बोली होगी। जो 4 लोग सबसे महंगी बोली लगाएंगे उन्हें सबसे पहले जुएं को हाथ लगाने का सौभाग्य मिलेगा। गौर करने वाली बात है कि बोली की रकम को मंदिर में दक्षिणा के तौर पर अर्पण किया जाएगा। वहीं अहमदाबाद में मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने सोने की झाड़ू लगाकर यात्रा की शुरुआत की। 

गौरतलब है कि पुरी की रथयात्रा की खास बात यह है कि यहां भगवान जगन्नाथ को कोलकाता से मंगवाए गए फूलों से सजाया जाएगा। रथयात्रा में हरिद्वार, नोएडा व सोनीपत से झांकियां शामिल होंगी। साथ में रुड़की बैंड और समालखा बैंड भी शामिल होंगे।

ये भी पढ़ें - पाकिस्तान में चुनावी रैली के दौरान 2 जबर्दस्त धमाके, 133 लोगों की मौत 200 से ज्यादा घायल


रथ यात्रा की खासियत

इस रथयात्रा के दौरान भगवान जगन्नाथ, भगवान बालभद्र और देवी सुभद्रा रथ में बैठकर जगन्नाथ मंदिर से रथ में बैठकर गुंडिचा मंदिर जाते हैं। आपको बता दें, भगवान बालभद्र और देवी सुभद्रा का जगन्नाथ मंदिर घर माना जाता है तो वहीं गुंडिचा मंदिर को भगवान जगन्नाथ की मौसी का घर कहा जाता है।

Todays Beets: