Tuesday, February 19, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

भारी आस्था के बीच आज शुरू होगी भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा, हजारों की तादाद में श्रद्धालु खीचेंगे रथ

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भारी आस्था के बीच आज शुरू होगी भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा, हजारों की तादाद में श्रद्धालु खीचेंगे रथ

नई दिल्ली। ओडिशा के जगन्नाथ पुरी में शनिवार से रथयात्रा शुरू हो रही है। इस रथ यात्रा के दौरान भगवान जगन्नाथ नगर भ्रमण को निकलेंगे। दोपहर 3 बजे से इस भव्य यात्रा की शुरुआत होगी। बता दें कि यात्रा शुरू होने से पहले 108 जोतों से भगवान की आरती उतारी जाएगी। दोपहर 12 बजे यात्रा को शुरू करने के लिए जुएं की बोली होगी। जो 4 लोग सबसे महंगी बोली लगाएंगे उन्हें सबसे पहले जुएं को हाथ लगाने का सौभाग्य मिलेगा। गौर करने वाली बात है कि बोली की रकम को मंदिर में दक्षिणा के तौर पर अर्पण किया जाएगा। वहीं अहमदाबाद में मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने सोने की झाड़ू लगाकर यात्रा की शुरुआत की। 

गौरतलब है कि पुरी की रथयात्रा की खास बात यह है कि यहां भगवान जगन्नाथ को कोलकाता से मंगवाए गए फूलों से सजाया जाएगा। रथयात्रा में हरिद्वार, नोएडा व सोनीपत से झांकियां शामिल होंगी। साथ में रुड़की बैंड और समालखा बैंड भी शामिल होंगे।

ये भी पढ़ें - पाकिस्तान में चुनावी रैली के दौरान 2 जबर्दस्त धमाके, 133 लोगों की मौत 200 से ज्यादा घायल


रथ यात्रा की खासियत

इस रथयात्रा के दौरान भगवान जगन्नाथ, भगवान बालभद्र और देवी सुभद्रा रथ में बैठकर जगन्नाथ मंदिर से रथ में बैठकर गुंडिचा मंदिर जाते हैं। आपको बता दें, भगवान बालभद्र और देवी सुभद्रा का जगन्नाथ मंदिर घर माना जाता है तो वहीं गुंडिचा मंदिर को भगवान जगन्नाथ की मौसी का घर कहा जाता है।

Todays Beets: