Friday, October 20, 2017

Breaking News

   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||

संघ का बड़ा बयान, कहा- अमित शाह के बेटे जय के मामले की जांच होनी चाहिए

अंग्वाल न्यूज डेस्क
संघ का बड़ा बयान, कहा- अमित शाह के बेटे जय के मामले की जांच होनी चाहिए

भोपाल । अमित शाह के बेटे जय शाह के मामले में गुरुवार को संघ का बड़ा बयान आया है। संघ के सह सरकार्यवाहक दत्तात्रेय होसबोले  ने कहा कि अगर अमित शाह के बेटे पर प्रथम जांच में कोई मामला बनता है तो उसकी जांच होनी ही चाहिए। संघ का यह बयान ऐसे समय में आया है कि जब कांग्रेस समेत कई विपक्षी दल इस मुद्दे पर मोदी सरकार को घेरते हुए कई तरह के आरोप लगा रहे हैं। हालांकि इस मुद्दे पर भाजपा ने अपना रुख स्पष्ट करते हुए कह दिया है कि जब विपक्ष के आरोपों के तहत कोई मामला बनता ही नहीं तो जांच कैसी। हालांकि संघ के इस मुद्दे पर बोलने के बाद अब जहां कांग्रेस समेत विपक्षी दलों को बल मिला है , वहीं भाजपा सरकार के लिए यह बयान उनके लिए भारी पड़ता है। 

ये भी पढ़ें- 2025 तक मोदीजी गुजरात के हर व्यक्ति को चाँद पर जाने के लिए रॉकेट देंगे- राहुल गांधी

बता दें कि पिछले दिनों एक वेब पोर्टल ने एक खबर प्रकाशित की थी, अमित शाह के बेटे जय शाह ने कुछ ही समय में अपनी कंपनी में कई सौ गुना की वृद्दि कर ली है। यह सब उसने अपने पिता के भाजपा अध्यक्ष रहते हुए किया है। इस दौरान अनियमितता के भी आरोप लगाए गए थे, जिसे जय शाह ने बेबुनियाद आरोप करार देते हुए, मीडिया हाउस पर 100 करोड़ रुपये का मानहानी का दावा किया है। 


इस पूरे मामले में भाजपा ने जयशाह को क्लीन चिट देते हुए उनके खिलाफ किसी भी जांच से मना कर दिया है। खुद गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने इस मामले में बयान देते हुए कहा कि विपक्ष के आरोप बेबुनियाद हैं, इनमें कोई सच्चाई नहीं। जब कोई मामला ही नहीं तो जांच किस चीज की कराई जाए। इसके साथ ही केंद्र सरकार के कई अन्य मंत्रियों ने इस मामले में जय शाह के पक्ष में बयान देते हुए उनके खिलाफ दुष्प्रचार करने का मामला बताया। 

ये भी पढ़ें- हनीप्रीत हो जाएगी बरी!, दो बार रिमांड के बावजूद पुलिस के पास अहम जानकारियां लेकिन कोई ठोस सबूत नहीं

बहरहाल, अब संघ का बयान सामने आने के बाद भाजपा के लिए इस मामले में जांच करवाने का दबाव बढ़ गया है। वहीं विपक्षी दलों को संघ के बयान से सरकार पर हमला करने का एक बड़ा मुद्दा मिल गया है। 

Todays Beets: