Monday, January 22, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

प्रदुमन की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलास- गला रेते जाने के महज 2-3 मिनट बाद ही हो गई थी मौत, मेडिकल लापरवाही की बात गलत

अंग्वाल संवाददाता
प्रदुमन की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलास- गला रेते जाने के महज 2-3 मिनट बाद ही हो गई थी मौत, मेडिकल लापरवाही की बात गलत

गुरुग्राम । रेयान इंटरनेशनल स्कूल के छात्र प्रदुमन हत्याकांड से जुड़ा एक और बड़ा सच सामने आया है। प्रदुमन की पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आई है, जिसमें किसी भी प्रकार की मेडिकल लापरवाही की बातों को सिरे से खारिज कर दिया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि जिस तरह से उसके गले में गहरा घाव हुआ था, उसके चलते उसकी सांस और पानी की नली कट गई थी, ऐसे में वह मात्र 2 से 3 मिनट ही जिंदा रहा होगा। ऐसे में जो लोग इस मामले में मेडिकल सेवाएं देने में लापरवाही बरते जाने की बात बात कह रहे हैं, वो सरासर गलत खबरें हैं। 


बता दें कि पिछले दिनों सोहना रोड स्थित रेयान इंटरनेशल स्कूल के टॉयलेट में 7 वर्षीय छात्र की गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। हालांकि जैसे ही स्कूल की टीचर ने उसे खून से लथपथ पाया, वह एक सहयोगी की मदद से उसे अस्पताल लेकर गई, लेकिन उसकी मौत हो गई थी। इसके बाद कुछ प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि वह अस्पताल ले जाते समय भी जिंदा था, अगर उसे समय रहते मेडिकल सुविधाएं मिल जाती तो उसकी जान बच सकती थी। इस सब के बीच प्रदुमन की पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आ गई है, जिसमें साफ कर दिया गया है कि प्रदुमन की मौत गला रेते जाने के महज 2 से 3 मिनट के भीतर हो गई थी। उसकी सांस की नली तक इस वार में कट गई थी, जिसके चलते उसका इतनी देर तक जिंदा रहने की बात गलत है। 

Todays Beets: