Monday, January 22, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

SC तय करेगी निजता का अधिकार मौलिक अधिकार है या नहीं

अंग्वाल न्यूज डेस्क
SC तय करेगी निजता का अधिकार मौलिक अधिकार है या नहीं

नई दिल्ली । सुप्रीम कोर्ट में पिछले सात दिनों से निजता के मौलिक अधिकार को लेकर चली आ रही बहस बुधवार को पूरी हो गई। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट के 9 जजों की संवैधानिक बेंच ने इस मुद्दे पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है। बहस पूरी होने के बाद अब यह बेंच पहले इस बात पर आम सहमति बनाएगी कि निजता का अधिकार, मौलिक अधिकारों में शुमार है भी या नहीं। इसके बाद 5 जजों की संवैधानिक बेंच आधार की वैधानिकता पर सुनवाई करेगी। 

बता दें कि सेंटरों पर आधार कार्ड बनवाने के लिए डाटा इकट्ठा करने के मसले को लेकर पिछले दिनों निजता पर यह बहस शुरू हुई थी। केंद्र सरकार ने इस दौरान कहा कि डाटा प्रोटेक्शन पर कानून ड्राफ्ट करने के लिए एक्सपर्ट कमेटी का गठन कर दिया गया है। इसके बाद सरकार ने बताया कि डाटा प्रोटोक्शन पर विचार करने वाली 10 सदस्यीय कमेटी के अध्यक्ष सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज बीएन श्रीकृष्णा हैं। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा था कि वह आधार कार्ड को खत्म करने नहीं जा रही है। 


इससे इतर, केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा- आधार का पूरा डाटा पूरी तरह से सुरक्षित है। यह डाटा इसलिए सुरक्षित है क्योंकि इस काम में से जुड़ा सर्वर भारत में ही है। लोकसभा में साइबर सुरक्षा को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा- अगर डेटा प्रोसेसिंग सेंटर भारत से बाहर है, तो प्लेटफॉर्म पर काम करने वालों को यह समझने की जरूरत है कि यहां उचित कानून है।

Todays Beets: