Friday, October 20, 2017

Breaking News

   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||

'सहाराश्री' के खिलाफ सेबी पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, एंबी वैली की नीलामी में बाधा पहुंचाने का लगाया आरोप

अंग्वाल न्यूज डेस्क

नई दिल्ली। सहारा प्रमुख सुब्रत राय की मुश्किलें कम नहीं हो रहीं हैं। सहारा के खिलाफ सिक्योरिटी एक्सचेंज बोर्ड आॅफ इंडिया (सेबी) ने सुप्रीम कोर्ट में अवामानना की याचिका दायर की है। सेबी ने कहा है कि सहारा एंबी वैली की नीलामी में रुकावट पैदा कर रहे हैं। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने आफिशियल लिक्वीडेटर को निर्देश दिया है कि वह महाराष्ट्र में सहारा समूह की एंबी वैली नीलामी प्रक्रिया में आगे बढ़े। कोर्ट ने सहारा की ओर से भुगतान के लिए मोहलत को 11 नवंबर तक बढ़ाए जाने की मांग को खारिज कर दिया है। 

शानदार शहर

गौरतलब है कि एंबी वैली महाराष्ट्र में मुंबई से लगभग 120 किमी  दूर लोनावाला के पास मुंबई-पुणे हाईवे पर पहाड़ियों के बीच बसा एक बेहद ही खूबसूरत शहर है। एंबी वैली परियोजना 6,761.64 एकड़ क्षेत्र में फैली हुई है जो पहाड़ों के बीच स्थित है। सहारा की इस संपत्ति की कीमत 37,392 करोड़ रुपए आंकी गई है। 


ये भी पढ़ें - सेना के ऑपरेशन 'क्लीन स्वीप' के तहत 4 आतंकियों को किया ढेर, 2 जवान घायल

सुब्रत राय को झटका

आपको बता दें कि सेबी ने सर्वोच्च अदालत को इस बात की जानकारी दी कि सहारा ने अभी तक सभी निवेशकों का पैसा नहीं लौटाया है जबकि सहारा की तरफ से यह दलील दी गई कि उसने 75 फीसदी से ज्यादा लोगों के पैसे वापस कर दिए हैं। यहां बता दें कि पिछले महीने सुप्रीम कोर्ट ने सहारा की उस याचिका को खारिज कर दिया था जिसमें उन्होंने 1500 करोड़ रुपए में से बकाया 966.80 करोड़ रुपए जमा कराने के लिए 2 अतिरिक्त महीनों की मांग की थी। ऐसे में सहारा प्रमुख के लिए सुप्रीम कोर्ट का यह आदेश एक बड़ा झटका माना जा रहा है जब उन्होंने कहा था निवेशकों की बकाया राशि में से करीब 533 करोड़ सेबी-सहारा खाते में जमा करा दिए हैं।  

Todays Beets: