Tuesday, December 11, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

दूसरों को न्याय देने वाले जज खुद न्याय के इंतजार में , सीबीआई के विशेष जज शिवपाल सिंह काट रहे दफ्तरों के चक्कर

अंग्वाल न्यूज डेस्क
दूसरों को न्याय देने वाले जज खुद न्याय के इंतजार में , सीबीआई के विशेष जज शिवपाल सिंह काट रहे दफ्तरों के चक्कर

नई दिल्ली। बिहार के बहुचर्चित चारा घोटाले मामले में राजद प्रमुख लालू प्रसाद को सजा का ऐलान कर चर्चा में आए सीबीआई के स्पेशन कोर्ट के जज शिवपाल सिंह इन दिनों खुद ही इंसाफ के लिए चक्कर लगा रहे हैं। बता दें कि शिवपाल सिंह उत्तर प्रदेश के जालौन में अपने पैतृक जमीन के बीच से चक रोड निकाले जाने से बेहद परेशान हैं और यहां न्याय पाने के लिए अधिकारियों के घरों के चक्कर लगा रहे हैं लेकिन प्रशासनिक उदासीनता की वजह से उन्हें न्याय नहीं मिल पा रहा है। 

पैतृक जमीन में से रोड निकालने का मामला

गौरतलब है कि रांची में सीबीआई के स्पेशल जज शिवपाल सिंह अकेले ही अपनी लड़ाई नहीं लड़ रहे हैं उनके साथ उनका परिवार भी परेशान है। तमाम प्रयासों के वावजूद भी उन्हें न्याय नहीं मिल पा रहा है। यहां बता दें कि जज शिवपाल सिंह मूल रूप से यूपी के जालौन जिले के शेखपुर खुर्द गांव के रहने वाले हैं। उनकी पैतृक जमीन में चक का रोड निकल गया है इसके लिए वे कई अधिकारियों के घरों के चक्कर काट चुके हैं लेकिन कोई उनकी समस्या पर ध्यान नहीं दे रहा है।


ये भी पढ़ें - डाॅक्टर हरगोविंद खुराना को गूगल ने दी श्रद्धांजलि, जन्म दिन पर डूडल बनाकर किया याद

न्याय का इंतजार

आपको बता दें कि शिवपाल सिंह की पैतृक संपत्ति से जुड़ा यह मामला साल 2006 का है। उनके भाई शिवपाल एवं उनकी जमीन शेखपुर खुर्द में अराजी नंबर 15 और 17 में है जिसके वह संक्रमणीय भूमिधर है। उनकी जमीन पर पूर्व प्रधान ने अपने कार्यकाल के दौरान बिना किसी अधिकार के चकरोड मार्ग बनवा दिया जबकि सरकारी कागजों में चकरोड मार्ग गाटा संख्या 13 है। इस मामले में उनके भाई सुरेन्द्रपाल सिंह ने कई अधिकारियों से गुहार लगाई लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है। मामला तूल पकड़ने के बाद जालौन उप जिलाधिकारी भैरपाल सिंह ने कहा कि मामला अभी उनके संज्ञान में आया है। इसकी जांच कराकर उचित कारवाई की जाएगी। 

Todays Beets: