Monday, July 23, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

मक्का मस्जिद ब्लास्ट के सभी आरोपी बरी, एनआईए की विशेष कोर्ट ने सुनाया फैसला

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मक्का मस्जिद ब्लास्ट के सभी आरोपी बरी, एनआईए की विशेष कोर्ट ने सुनाया फैसला

नई दिल्ली। हैदराबाद में 18 मई 2007 में हुए मक्का मस्जिद ब्लास्ट मामले में सोमवार को एनआईए की विशेष कोर्ट ने सभी 5 आरोपियों को बरी कर दिया है। बता दें कि साल 2007 में हुए इस धमाके में 9 लोगों की मौत हो गई थी और 53 से ज्यादा घायल हो गए थे। बताया जा रहा है कि एनआईए ने इस मामले में कोर्ट में कोई सबूत पेश नहीं कर पाई इस वजह से मुख्य आरोपी असीमानंद समेत सभी 5 आरोपियों को बरी कर दिया गया।  गौरतलब है कि करीब 11 साल पहले हुए इस धमाके में 8 लोगों को आरोपी बनाया गया था। वहीं विपक्ष ने भी भाजपा पर भगवा आतंकवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाया था। हैदराबाद के मक्का मस्जिद ब्लास्ट मामले में स्वामी असीमानंद को मुख्य आरोपी बनाया गया था। उसे 2010 में गिरफ्तार किया था। उनके साथ भारत मोहनलाल रत्नेश्वर उर्फ भरत भाई जमानत पर बाहर हैं और 3 लोग जेल में बंद हैं। 

ये भी पढ़ें - वायुसेना स्टेशन की दीवार फांदकर घुसा संदिग्ध, सैनिकों ने दबोचा, खूफिया एजेंसियां सतर्क


 

गौरतलब है कि 18 मई 2007 को दोपहर 1 के आसपास मस्जिद में धामाका हुआ था जिसमें 5 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई थी और 4 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे, बाद में इनकी भी मौत हो गई थी। इस मामले को सीबीआई को ट्रांसफर कर दिया गया था लेकिन फिर यह मामला एनआईए के पास चला गया। 

Todays Beets: