Saturday, December 15, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

त्रिपुरा के राज्यपाल ने पटाखों के शोर की तुलना मस्जिद के अजान से की, कहा-इस पर कोई क्यों नहीं बोलता

अंग्वाल न्यूज डेस्क
त्रिपुरा के राज्यपाल ने पटाखों के शोर की तुलना मस्जिद के अजान से की, कहा-इस पर कोई क्यों नहीं बोलता

नई दिल्ली। अक्सर अपने बयानों से चर्चा में रहने वाले त्रिपुरा के राज्यपाल तथागत राॅय ने एक और विवादित बयान दिया है। राॅय ने पटाखों के शोर की तुलना मस्जिद की अजान से कर दी है। समाचार एजेंसी की खबर के अनुसार त्रिपुरा के राज्यपाल ने कहा कि दिवाली पर इस बात पर विवाद होने लगता है कि पटाखों से वायु प्रदूषण होता है जबकि वे तो साल में कुछ ही दिन फोड़े जाते हैं, लेकिन सुबह 4.30 पर लाउड स्पीकर से होने वाली अजान पर कोई बहस नहीं होती है। 

पटाखों पर बैन

गौरतलब है कि मस्जिद से दी जाने वाली अजान पर रॉय ने कहा कि अजान पर ‘सेक्यूलर’ लोगों का न बोलना उनको उलझन में डालता है। उन्होंने यह भी लिखा कि कुरान या फिर हदीस में लाउडस्पीकर का कोई जिक्र नहीं है। यहां बता दें कि राज्यपाल ने यह बयान ऐसे समय में दिया है जब सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली-एनसीआर में पटाखों की बिक्री पर रोक लगा दिया है। 


ये भी पढ़ें -अब कभी क्रिकेट नहीं खेल पाएंगे श्रीसंत, हाईकोर्ट ने आजीवन प्रतिबंध बरकरार रखा

सोनू पर फतवा

आपको बता दें कि त्रिपुरा के राज्यपाल से पहले अजान को लेकर गायक सोनू निगम ने भी ट्विट किया था जिसे लेकर काफी बहस हुई थी। सोनू के खिलाफ फतवा जारी करते हुए एक मौलाना ने उनका सिर काटकर लाने वाले को इनाम देने का ऐलान किया था। 

Todays Beets: