Tuesday, November 21, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

त्रिपुरा के राज्यपाल ने पटाखों के शोर की तुलना मस्जिद के अजान से की, कहा-इस पर कोई क्यों नहीं बोलता

अंग्वाल न्यूज डेस्क
त्रिपुरा के राज्यपाल ने पटाखों के शोर की तुलना मस्जिद के अजान से की, कहा-इस पर कोई क्यों नहीं बोलता

नई दिल्ली। अक्सर अपने बयानों से चर्चा में रहने वाले त्रिपुरा के राज्यपाल तथागत राॅय ने एक और विवादित बयान दिया है। राॅय ने पटाखों के शोर की तुलना मस्जिद की अजान से कर दी है। समाचार एजेंसी की खबर के अनुसार त्रिपुरा के राज्यपाल ने कहा कि दिवाली पर इस बात पर विवाद होने लगता है कि पटाखों से वायु प्रदूषण होता है जबकि वे तो साल में कुछ ही दिन फोड़े जाते हैं, लेकिन सुबह 4.30 पर लाउड स्पीकर से होने वाली अजान पर कोई बहस नहीं होती है। 

पटाखों पर बैन

गौरतलब है कि मस्जिद से दी जाने वाली अजान पर रॉय ने कहा कि अजान पर ‘सेक्यूलर’ लोगों का न बोलना उनको उलझन में डालता है। उन्होंने यह भी लिखा कि कुरान या फिर हदीस में लाउडस्पीकर का कोई जिक्र नहीं है। यहां बता दें कि राज्यपाल ने यह बयान ऐसे समय में दिया है जब सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली-एनसीआर में पटाखों की बिक्री पर रोक लगा दिया है। 


ये भी पढ़ें -अब कभी क्रिकेट नहीं खेल पाएंगे श्रीसंत, हाईकोर्ट ने आजीवन प्रतिबंध बरकरार रखा

सोनू पर फतवा

आपको बता दें कि त्रिपुरा के राज्यपाल से पहले अजान को लेकर गायक सोनू निगम ने भी ट्विट किया था जिसे लेकर काफी बहस हुई थी। सोनू के खिलाफ फतवा जारी करते हुए एक मौलाना ने उनका सिर काटकर लाने वाले को इनाम देने का ऐलान किया था। 

Todays Beets: