Sunday, December 16, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

वाॅलमार्ट-फ्लिपकार्ट डील के विरोध में उतरे व्यापारी, 28 सितंबर को बुलाया भारत बंद

अंग्वाल न्यूज डेस्क
वाॅलमार्ट-फ्लिपकार्ट डील के विरोध में उतरे व्यापारी, 28 सितंबर को बुलाया भारत बंद

नई दिल्ली। बढ़ती महंगाई को लेकर राजनीतिक पार्टियों के द्वारा भारत बंद के बाद अब देश के रिटेल व्यापार को बचाने के लिए व्यापारियों ने केंद्र सरकार का विरोध करने के लिए 28 सितंबर को भारत बंद बुलाया है। व्यापारियों ने कहा कि बंद को सफल बनाने के लिए एक सप्ताह का जनजागरण अभियान चलेगा। यहां बता दें कि गुरुवार को काॅन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) एवं उत्तर प्रदेश आदर्श व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष संजय गुप्ता ने यह ऐलान किया है। 

गौरतलब है कि व्यापारियों के द्वारा बुलाए जा रहे बंद को ‘‘वालमार्ट-फ्लिपकार्ट डील से व्यापार बचाओ, व्यापारी आओ’’ नारा दिया गया है। व्यापारियों की मांग है कि केंद्र सरकार ‘‘वालमार्ट-फ्लिपकार्ट डील’’ को तत्काल निरस्त करे और सिंगल ब्रांड रिटेल में 100 फीसदी निवेश की अनुमति को वापस लेने के साथ ही खुदरा व्यापार एवं ई-कॉमर्स में विदेशी निवेश की किसी भी तरह की अनुमति नहीं दी जाए। 


ये भी पढ़ें - राहुल गांधी का रक्षा मंत्री पर बड़ा हमला, कहा- ‘राफेल मिनिस्टर’ इस्तीफा दें 

यहां बता दें कि व्यापारियों की मांग है कि आयकर की सीमा कम से कम 5 लाख रुपये करके धारा-80 सी के तहत छूट की सीमा को 1.5 लाख से बढ़ाकर 2.50 लाख किया जाए। व्यापारियों का कहना है कि इसमें अन्य संगठनों से भी साथ देने की अपील की जाए। 

Todays Beets: