Thursday, October 18, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

नोएडा में निर्माणाधीन इमारत गिरी, 1 की मौत 3 घायल

अंग्वाल न्यूज डेस्क
नोएडा में निर्माणाधीन इमारत गिरी, 1 की मौत 3 घायल

 नई दिल्ली। दिल्ली से सटे नोएडा के सेक्टर 63 में एक निर्माणाधीन इमारत गिरने से एक व्यक्ति की मौत हो गई जबकि 3 लोग घायल हो गए हैं। निर्माणाधीन इमारत के गिरने के कारणों का फिलहाल पता नहीं चला है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। कुछ दिनों पहले नोएडा के शाहबेरी गांव में निर्माणाधीन इमारत के गिरने से 9 लोगों की मौत हो गई थी। इसके बावजूद बिल्डरों ने सबक नहीं सिखा। स्थानीय प्राधिकरण के अधिकारियों द्वारा आंख बंद किए जाने से भी बिल्डरों द्वारा लापरवाही की जा रही है। नतीजतन ऐसे हादसे हो रहे हैं। 

अनंतनाग में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच एनकाउंटर जारी, 2 जवान घायल

ऐसे हादसों से साफ है कि स्थानीय प्राधिकरण के अधिकारी बिल्डरों को मानकों के अनुरूप कार्य करने के लिए बाध्य नहीं कर पा रहे हैं। बिल्डर अपनी मनमानी कर रहे हैं। जमीन खरीद से लेकर इमारत को तैयार करने तक सभी जगह गड़बड़ी की जाती है। इसके बावजूद प्रशासन चुप रहता है। शाहबेरी गांव में जिस इमारत पर निर्माणाधीन इमारत गिरी थी, उसमें परिवार रहते थे। यहां रहने वाले परिवारों ने बैंक से लोन लेकर फ्लैट खरीदा था।


  बरेली के इमाम का विवादित फतवा, निदा खान का सिर कलम करने वाले को इनाम का ऐलान

यब बात सामने आ रही है कि जिस जमीन पर दोनों इमारत हैं, वो शाहबेरी गांव की जमीन है। नोएडा प्राधिकरण की नहीं है। गांव की जमीन के पेपर पूरे नहीं होते हैं, अर्थात् फ्री होल्ड नहीं होतेे। इसके बावजूद बैंक फ्लैट पर लोन दे रहे थे। इससे सिस्टम में मिलीभगत के संकेत मिलते हैं।  

Todays Beets: