Thursday, April 2, 2020

Breaking News

   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||

दुबई में धोखाधड़ी के मामले में फंसे 2 भारतीय, कोर्ट ने सुनाई 500 साल की सजा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
दुबई में धोखाधड़ी के मामले में फंसे 2 भारतीय, कोर्ट ने सुनाई 500 साल की सजा

नई दिल्ली। अभी तक तो आपने सुना होगा कि किसी बड़े अपराध के लिए दोषियों को उम्रकैद की सजा सुनाई जाती है लेकिन दुबई के कोर्ट ने गोवा के 2 लोगों को 500 साल-500 सालों की सजा सुनाई है। गोवा के रहने वाले इन दोनों लोगों पर 200 मिलियन डॉलर के घोटाले में हजारों निवेशकों को धोखा देने का आरोप है। इसी मामले में 37 साल के सिडनी लिमोस और उनके अकाउंट स्पेशलिस्ट 25 साल के रियान डिसूजा को यह सजा सुनाई गई है।

गौरतलब है कि लिमोस पर इस बात के आरोप हैं कि उसने अपनी कंपनी के जरिए लोगों को लालच दिया कि वह 25 हजार डॉलर के निवेश पर उन्हें 120 प्रतिशत का न्यूनतम सालाना रिटर्न देगा। लिमोस की पत्नी वलानी पर भी केस दर्ज किया गया है। उन पर गैरकानूनी रूप से सील ऑफिस में घुसने और दस्तावेज ले जाने का आरोप है।


ये भी पढ़ें - वैज्ञानिकों ने ग्लोबल वार्मिंग से निपटने के बताए उपाय, ऊंचाई से नमक गिराने से मिलेगी राहत!

यहां बता दें कि लिमोस को सबसे पहले दिसंबर 2016 में गिरफ्तार किया गया था। बाद में उसे जमानत पर रिहा कर दिया गया था। हालांकि पिछले साल जनवरी में भी उसे गिरफ्तार किया गया था। वहीं सजोलिम के रहने वाले रियान को पिछले साल फरवरी में दुबई एयरपोर्ट पर गिरफ्तार किया गया था।

Todays Beets: