Thursday, April 2, 2020

Breaking News

   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||

पति हो तो ऐसा, पत्नी की करियर के लिए छोड़ दी मंत्री की कुर्सी 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पति हो तो ऐसा, पत्नी की करियर के लिए छोड़ दी मंत्री की कुर्सी 

नई दिल्ली। अपने पति की जिन्दगी या फिर उसके बेहतर भविष्य के लिए अपना सबकुछ त्याग कर देने वाली पत्नियों के बारे में तो आपने जरूर सुना होगा। क्या आपने ऐसे किसी रसूखदार पति के बारे में सुना है जिसने अपनी पत्नी की करियर के लिए मंत्री की कुर्सी छोड़ दी। नाॅर्वे के परिवहन मंत्री केतिल सोलविक-ओल्सेन की पत्नी टोन सोल्विक-ओल्सन ने एक साल के लिए अमेरिका में बच्चों के अस्पताल में नौकरी स्वीकार कर ली है। परिवहन मंत्री के इस फैसले की सोशल मीडिया पर जमकर तारीफ हो रही है। 

गौरतलब है कि वर्ल्ड इकॉनोमिक फोरम की एक रिपोर्ट के अनुसार, लैंगिक समानता के मामले में नॉर्वे दुनिया भर में आइसलैंड के बाद दूसरा स्थान हासिल है। नाॅर्वे के परिवहन मंत्री ने कहा कि अपने जीवन में वे सबकुछ पा चुके हैं और एक मंत्री के तौर पर उनका सफर शानदार रहा है। उन्होंने कहा कि वे एक लंबे समय तक मंत्री के तौर पर काम कर सकते थे लेकिन जीवनसाथी का भविष्य भी अहम है, अब उसके आगे बढ़ने का समय है और उसमें पूरा सहयोग देना चाहते हैं। 


ये भी पढ़ें - केरल के प्रभावित लोगों की मदद के लिए आगे आया कैदी, 1 लाख रुपये देने का किया ऐलान

यहां बता दें कि नाॅर्वे के परिवहन मंत्री के द्वारा उठाए गए इस कदम की खबर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई और लोग जमकर उनकी तारीफें कर रहे हैं। ऐसा कहा जा रहा है कि लैंगिक समानता की ओर उठाया गया यह एक महत्वपूर्ण कदम है। वाह! पति हो तो ऐसा।

Todays Beets: