Saturday, January 16, 2021

Breaking News

   सरकार की सत्याग्रही किसानों को इधर-उधर की बातों में उलझाने की कोशिश बेकार है-राहुल गांधी     ||   थाइलैंड में साइना नेहवाल कोरोना पॉजिटिव, बैडमिंटन चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने गई हैं विदेश     ||   एयर एशिया के विमान से पुणे से दिल्ली पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप     ||   फिटनेस समस्या की वजह से भारत-ऑस्ट्रेलिया चौथे टेस्ट से गेंदबाज जसप्रीत बुमराह बाहर     ||   दिल्ली: हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की पार्टी विधायकों के साथ बैठक, किसान आंदोलन पर चर्चा     ||   हम अपने पसंद के समय, स्थान और लक्ष्य पर प्रतिक्रिया देने का अधिकार सुरक्षित रखते हैं- आर्मी चीफ     ||   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||

पति हो तो ऐसा, पत्नी की करियर के लिए छोड़ दी मंत्री की कुर्सी 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पति हो तो ऐसा, पत्नी की करियर के लिए छोड़ दी मंत्री की कुर्सी 

नई दिल्ली। अपने पति की जिन्दगी या फिर उसके बेहतर भविष्य के लिए अपना सबकुछ त्याग कर देने वाली पत्नियों के बारे में तो आपने जरूर सुना होगा। क्या आपने ऐसे किसी रसूखदार पति के बारे में सुना है जिसने अपनी पत्नी की करियर के लिए मंत्री की कुर्सी छोड़ दी। नाॅर्वे के परिवहन मंत्री केतिल सोलविक-ओल्सेन की पत्नी टोन सोल्विक-ओल्सन ने एक साल के लिए अमेरिका में बच्चों के अस्पताल में नौकरी स्वीकार कर ली है। परिवहन मंत्री के इस फैसले की सोशल मीडिया पर जमकर तारीफ हो रही है। 

गौरतलब है कि वर्ल्ड इकॉनोमिक फोरम की एक रिपोर्ट के अनुसार, लैंगिक समानता के मामले में नॉर्वे दुनिया भर में आइसलैंड के बाद दूसरा स्थान हासिल है। नाॅर्वे के परिवहन मंत्री ने कहा कि अपने जीवन में वे सबकुछ पा चुके हैं और एक मंत्री के तौर पर उनका सफर शानदार रहा है। उन्होंने कहा कि वे एक लंबे समय तक मंत्री के तौर पर काम कर सकते थे लेकिन जीवनसाथी का भविष्य भी अहम है, अब उसके आगे बढ़ने का समय है और उसमें पूरा सहयोग देना चाहते हैं। 


ये भी पढ़ें - केरल के प्रभावित लोगों की मदद के लिए आगे आया कैदी, 1 लाख रुपये देने का किया ऐलान

यहां बता दें कि नाॅर्वे के परिवहन मंत्री के द्वारा उठाए गए इस कदम की खबर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई और लोग जमकर उनकी तारीफें कर रहे हैं। ऐसा कहा जा रहा है कि लैंगिक समानता की ओर उठाया गया यह एक महत्वपूर्ण कदम है। वाह! पति हो तो ऐसा।

Todays Beets: