Thursday, October 18, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

राज्यसभा उपसभापति के लिए जोर आजमाइश तेज, कांग्रेस ने बीके हरिप्रसाद को बनाया उम्मीदवार 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
राज्यसभा उपसभापति के लिए जोर आजमाइश तेज, कांग्रेस ने बीके हरिप्रसाद को बनाया उम्मीदवार 

नई दिल्ली। राज्यसभा के उपसभापति के पद पर चुनाव कल यानी की गुरुवार को होना है। एनडीए की ओर से जदयू के नेता हरिवंश नारायण सिंह को अपना उम्मीदवार बनाया है और वे बुधवार को अपना नामांकन पत्र भरेंगे। वहीं कांग्रेस ने भी जोर आजमाइश करते हुए बीके हरिप्रसाद को अपना उम्मीदवार घोषित किया है। बीके हरिप्रसाद राज्यसभा में सांसद के तौर पर कर्नाटक का प्रतिनिधित्व करते हैं और साथ ही वह अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव भी हैं। गौर करने वाली बात है कि उपसभापति पीजे कुरियन का कार्यकाल इसी साल जून में समसप्त हो चुका है। 10 अगस्त को समाप्त होने वाले मानसून सत्र में सभापति ने उपसभापति चुनाव के लिए 9 अगस्त का दिन तय किया है। 

गौरतलब है कि एनडीए के उम्मीदवार हरिवंश नारायण सिंह के नाम को लेकर घटक दलों के बीच एकराय नहीं होने की खबर आई थी। बताया जा रहा है कि सहयोगी दल शिरोमणि अकाली दल नाराज हैं लेकिन बाद में उन्होंने एनडीए के उम्मीदवार को समर्थन देने का ऐलान किया है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सभी दलों को एकजुट करने के प्रयास में जुटे हैं। 

ये भी पढ़ें - तकनीकी शिक्षा की डिग्री देने की आड़ में आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा पाकिस्तान- पुलिस महानिदेशक


यहां बता दें कि दोनों पार्टियों में अपने उम्मीदवार को लेकर जोर आजमाइश शुरू कर दी गई है। कहा जा रहा है कि एनडीए के उम्मीदवार की जीत-हार का दारोमदार पूरी तरह से बीजू जनता दल पर टिकी हुई है। अगर वह मतदान के दौरान सदन से अनुपस्थित रहती है तो भाजपा का मामला गड़बड़ हो सकता है। बीजू जनता दल का कहना है कि राज्य में दोनांे ही पार्टियां उसकी विरोधी हैं ऐसे में किसका समर्थन किया जाए यह एक बड़ी चुनौती है।

 

Todays Beets: