Tuesday, July 16, 2019

Breaking News

   सूरत: सभी मोदी चोर कहने का मामला, 10 अक्टूबर को हो सकती है राहुल गांधी की पेशी     ||   मुंबई: इमारत गिरने पर बोले MIM नेता वारिस पठान- यह हादसा नहीं, हत्या है     ||   नीरज शेखर के इस्तीफे पर बोले रामगोपाल यादव- गुरु होने के नाते आशीर्वाद दे सकता हूं     ||   लखनऊ: खनन घोटाले में ED ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से पूछताछ की     ||   पोंजी घोटाला: पूछताछ के बाद बोले रोशन बेग- हज पर नहीं जा रहा, जांच में करूंगा सहयोग    ||    संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने कहा- जरूरत पड़ी तो सत्र बढ़ाया जा सकता है     ||   केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया- सुप्रीम कोर्ट में जजों की कमी नहीं    ||    AAP नेता इमरान हुसैन ने बीजेपी नेता विजय गोयल और मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ की शिकायत    ||   राहुल गांधी के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम    ||   यूपी सरकार का 17 जातियों को SC की लिस्ट में डालने का फैसला असंवैधानिक: थावर चंद गहलोत    ||

तकनीकी शिक्षा की डिग्री देने की आड़ में आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा पाकिस्तान- पुलिस महानिदेशक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
तकनीकी शिक्षा की डिग्री देने की आड़ में आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा पाकिस्तान- पुलिस महानिदेशक

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर में पाकिस्तान द्वारा आतंकी गतिविधियों को बढ़ावा देने के एक और अध्याय का खुलासा हुआ है। जम्मू कश्मीर के पुलिस महानिदेशक एसपी वैद्य ने कहा कि पाकिस्तान युवाओं को तकनीकी शिक्षा की डिग्रियां देने की आड़ में उन्हें भटका रहा है। उन्होंने  कहा कि छात्रों से ली जाने वाली फीस का इस्तेमाल आतंकी गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए किया जा रहा है। तकनीकी शिक्षा के नाम पर स्थानीय युवाओं को हथियार चलाने का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। यहां गौर करने वाली बात है कि घाटी से बड़ी संख्या में छात्र शिक्षा हासिल करने के लिए पाकिस्तान का रुख कर रहे हैं। 

गौरतलब है कि इन छात्रों को अलगाववादी नेताओं की सिफारिश पर वीजा दिलवाया जा रहा है। पुलिस महानिदेशक ने बताया कि मेडिकल और इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल करने के लिए पाकिस्तान जाने वाले युवाओं को पूरी तरह से ब्रेनवाॅश किया जाता है और उन्हें भारत के खिलाफ भड़काया जाता है। हथियार चलाने के प्रशिक्षण के बाद उन्हें घाटी में वापस बुलाया जाता है। पुलिस द्वारा कई युवाओं से पूछताछ में यह बात सामने आई है।


ये भी पढ़ें - कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को किया नोटिस जारी, 20 अगस्त तक रिपोर्ट पेश करने के आदेश

यहां बता दें कि एसपी वैद्य ने बताया कि युवाओं को वीजा दिलाने में पाकिस्तानी उच्चायुक्त और अलगाववादी नेताओं के बीच सांठगांठ की बात भी सामने आई है। उन्होंने कहा कि इन नेताओं की सिफारिश पर ही नौजवानों को पाकिस्तानी एंबेसी से वीजा प्राप्त हो पाता है। इसके साथ ही सोशल मीडिया के जरिए भी युवाओं को फंसाने का सिलसिला जारी है। फेसबुक पर दोस्त बनाकर उन्हें भारत के खिलाफ भड़काया जाता है।  

Todays Beets: