Sunday, February 24, 2019

Breaking News

   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||

 टेरर फंडिंग मामले में एनआईए का दिल्ली के कई ठिकानों पर छापा, लाखों रुपये, मोबाइल और दस्तावेज किया जब्त

अंग्वाल न्यूज डेस्क
 टेरर फंडिंग मामले में एनआईए का दिल्ली के कई ठिकानों पर छापा, लाखों रुपये, मोबाइल और दस्तावेज किया जब्त

नई दिल्ली। टेरर फंडिंग के मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने पाकिस्तानी आतंकी हाफिज सईद के संगठन फलह-ए-इंसानियत फाउंडेशन (एफआईएफ) के दिल्लाी स्थित कई ठिकानों पर छापेमारी की है। खबरों के अनुसार एनआईए ने यह कार्रवाई हिलाल अहमद राथर के लाजपत नगर स्थित आवास और ऑफिस परिसरों पर की गई है। बता दें कि वह मूल रूप से श्रीनगर का रहने वाला है। एनआईए ने छापेमारी के दौरान उसके घर से 18 लाख रुपये नकद, 6 मोबाइल फोन, सिम और कई अहम दस्तावेज जब्त किए गए हैं।

गौरतलब है कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने इस संगठन के खिलाफ 2 जुलाई 2018 को आतंकी फंडिंग करने के लेकर कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था। इसके बाद हुई जांच में पता चला कि नई दिल्ली के निजामुद्दीन निवासी मोहम्मद सलमान लगातार दुबई स्थित एक पाकिस्तानी नागरिक के संपर्क में था और बाद में उसका संपर्क एफआईएफ के डिप्टी चीफ से हो गया। गौर करने वाली बात है कि फलह-ए-इंसानियत फाउंडेशन लश्कर ए तैयबा का ही मुखौटा है।

ये भी पढ़ें - संयुक्त राष्ट्र में भारत की बड़ी जीत, सबसे ज्यादा अंतर से मानवाधिकार परिषद का बना सदस्य 


यहां बता दें कि हवाला के जरिए इसके पास पैसा आता था जिसका इस्तेमाल देश में आतंकी गतिविधियों को बढ़ावा देने में किया जाता था। आपको बता दें कि 2010 में अमेरिका ने इस संगठन को आतंकी संगठनों की सूची में शामिल किया था। इस मामले में अब तक दिल्ली के मोहम्मद सलमान, मोहम्मद सलीम और श्रीनगर निवासी सज्जाद अहमद वानी को गिरफ्तार किया गया है।

 

Todays Beets: