Tuesday, December 11, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

रामभक्त और ताकतवर होने पर मंदिर बनाकर हिसाब पूरा कर देंगे- अनिल विज

अंग्वाल न्यूज डेस्क
रामभक्त और ताकतवर होने पर मंदिर बनाकर हिसाब पूरा कर देंगे- अनिल विज

चंडीगढ़। भारतीय जनता पार्टी के बयानवीर नेताओं में से एक हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने अयोध्या में 26 सालों पहले गिराए गए विवादित ढांचे की बरसी पर एक बार फिर से विवादित बयान दिया है। विज ने अपने बयान में कहा कि बाबर ने बिना किसी कानून की परवाह किए मंदिर को तोड़कर मस्जिद बनवा दिया था क्योंकि उस समय वह ताकतवर था। उन्होंने कहा कि रामभक्त ताकतवर हुए तो मस्जिद को गिरा दिया और ताकतवार होंगे तो राम मंदिर बनाकर हिसाब पूरा कर देंगे। यहां बता दें कि इससे पहले भी कई मुद्दों पर अनिल विज विवादित बयान दे चुके हैं। 

गौरतलब है कि हरियाणा के मंत्री पहले भी कई विवादित बयान दे चुके हैं। फिल्म पद्मावती को लेकर भी अनिल विज ने कहा था कि वे फिल्म को हरियाणा में रिलीज नहीं होने देंगे।  इसके साथ ही उन्होंने ताजमहल को एक खूबसूरत कब्रिस्तान बता चुके हैं। आपको बता दें कि अनिल विज ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की तुलना ‘निपाह वायरस’ से की थी। 

ये भी पढ़ें - नवजोत सिद्धू की बोलने की शक्ति खतरे में , डॉक्टर की हिदायत के बाद इलाज के लिए अज्ञात स्थान गए


यहां बता दें कि हरियाणा में मुसलमानों के द्वारा खुली जगह पर नमाज पढ़ने पर भी ऐतराज जताते हुए उन्होंने कहा था कि मुसमानों जमीन पर कब्जा जमाने के मकसद से खुली जगह में नमाज पढ़ रहे हैं। अब उन्होंने मंदिर-मस्जिद विवाद का मुद्दा सुप्रीम कोर्ट में होने के बावजूद ऐसा विवादित बयान दिया है।

 

Todays Beets: