Sunday, February 17, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

सपा से अलग हुए शिवपाल पर भाजपा मेहरबान, मायावती का बंगला किया अलाॅट

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सपा से अलग हुए शिवपाल पर भाजपा मेहरबान, मायावती का बंगला किया अलाॅट

लखनऊ। समाजवादी पार्टी से नाराज से होकर अगल पार्टी बनाने वाले शिवपाल सिंह यादव पर योगी सरकार थोड़ी मेहरबान हो गई है। शुक्रवार को सरकार ने पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के द्वारा खाली किए गए  6 एलबीएस बंगले को शिवपाल सिंह को दे दिया है। बताया जा रहा है कि शिवपाल को यह बंगला बतौर विधायक अलाॅट किया गया है। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद यूपी के सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों से सरकारी आवास खाली कराए गए थे। फिलहाल शिवपाल सिंह यादव मायावती के नए पड़ोसी हो गए हैं क्योंकि मायावती इसके बगल में ही अपने दूसरे बंगले में शिफ्ट हो गई हैं। 

गौरतलब है कि योगी सरकार के राजस्व विभाग के द्वारा मायावती का पुराना बंगला शिवपाल सिंह को अलाॅट करने को भाजपा और शिवपाल के बीच नए सियासी समीकरण के तौर पर भी देखा जा रहा है। बता दें कि भाजपा के खिलाफ समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी आगामी लोकसभा चुनाव के लिए गठबंधन बनाने जा रहे हैं। 


ये भी पढ़ें - रूस के साथ रक्षा सौदे से तिलमिलाए अमेरिका ने भारत को दिखाई ‘दादागिरी’, ईरान से तेल आयात करने से रोका

यहां बता दें कि खबरों के अनुसार शिवपाल सिंह ने बंगले का मुआयना भी कर लिया है। बताया जा रहा है कि 6 एलबीएस बंगला शिवपाल को आवंटित कर भाजपा अखिलेश के खिलाफ उन्हें आगे बढ़ाना चाहती है। अब इस बंगले में शिवपाल अपनी पार्टी का दफ्तर बनाएंगे।

Todays Beets: