Thursday, January 17, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

मध्यप्रदेश सरकार भी चली ‘योगी’ की राह, कांग्रेसी नेताओं के खिलाफ दर्ज मुकदमे होंगे वापस

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मध्यप्रदेश सरकार भी चली ‘योगी’ की राह, कांग्रेसी नेताओं के खिलाफ दर्ज मुकदमे होंगे वापस

भोपाल। करीब डेढ़ दशक के बाद मध्यप्रदेश की सत्ता में वापसी करने वाली कांग्रेस योगी सरकार की राह पर चल पड़ी है। मध्यप्रदेश के कानून मंत्री पीसी शर्मा ने कहा है कि कांग्रेस नेताओं पर दर्ज सभी राजनीतिक मामले वापस लिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि ये सभी मामले भाजपा कार्यकाल में दर्ज किए गए थे जिन्हें वापस लिया जाएगा। बता दें कि इससे पहले योगी सरकार ने भी प्रदेश के भाजपा नेताओं पर हुए मुकदमे वापस लेने का ऐलान किया था। मध्यप्रदेश के कानून मंत्री ने बलात्कार के आरोपियों को फांसी की सजा दिए जाने पर कहा कि महिला अपराधों पर लगाम लगाना प्राथमिकता होगी।

गौरतलब है कि शुक्रवार को ही मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने मंत्रियों के बीच विभागों का बंटवारा किया है। इससे पहले ज्योतिरादित्य और राजवर्धन सिंह अपने नेताओं को मंत्री बनाने में जुटे हुए थे। यहां तक की एक नाराज विधायक ने तो मंत्री नहीं बनाए जाने पर इस्तीफा तक देने की धमकी दे दी थी। हालांकि बाद में उसे दिल्ली आलाकमान से मिलने के लिए भेजा गया। 


ये भी पढ़ें - रिम्स बना बिहार की राजनीति का अखाड़ा, लालू ने मिलने पहुंचे तेजस्वी और कुशवाहा

यहां बता दें कि लंबी माथापच्ची के बाद मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार ने मंत्रियों के विभागों का बंटवारा कर दिया है। पीसी शर्मा विधि मंत्रालय, सज्जन सिंह वर्मा को लोक निर्माण विभाग, हुकुम सिंह कराड़ा को जन संसाधन विभाग, बाबा बच्चन को गृह विभाग, जेल विभाग, आरिफ अकील को पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक विभाग, तुलसी सिलावट को लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री, गोविंद सिंह राजपूत को राजस्व और परिवहन विभाग, प्रियव्रत सिंह को ऊर्जा विभाग, सुखदेव पासी लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग, जयवर्धन सिंह को नगरीय विकास एवं आवास विभाग दिया गया है।  

Todays Beets: