Monday, December 17, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

तेलंगाना में चुनाव से पहले कांग्रेस का बड़ा दांव, अजहरूद्दीन को बनाया कार्यकारी अध्यक्ष 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
तेलंगाना में चुनाव से पहले कांग्रेस का बड़ा दांव, अजहरूद्दीन को बनाया कार्यकारी अध्यक्ष 

हैदराबाद। तेलंगाना विधानसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस ने एक बड़ा कदम उठाते हुए शुक्रवार को पूर्व सांसद और पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी मोहम्मद अजहरूद्दीन को कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त कर दिया है। इसके साथ ही एक और नेता संदीप दीक्षित को सचिव बनाया है। बता दें कि तेलंगाना में भाजपा और टीआरएस दोनों की अकेले दम पर चुनाव लड़ रहे हैं वहीं कांग्रेस, टीडीपी, तेलंगाना जन समिति और भाकपा ने ‘प्रजाकुटामी’ (गठबंधन) बनाया है जो टीआरएस को चुनौती देंगे। अब देखना है कि अजहरूद्दीन राज्य में पार्टी को फ्रंटफुट पर लाते हैं या बैकफुट पर ले जाते हैं। 

गौरतलब है कि अजहरूद्दीन सबसे पहले यूपी के मुरादाबाद से सांसद बने थे। उसके बाद उन्हें राजस्थान के टोंक से टिकट दिया गया लेकिन वे वहां से विजयी नहीं हो पाए। अब पार्टी से उन्होंने 2019 में अपने गृहनगर तेलंगाना से चुनाव लड़ने की इच्छा जताई है। फिलहाल पार्टी ने उन्हें तेलंगाना कांग्रेस का कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया है और संदीप दीक्षित को सचिव बनाया है। 


ये भी पढ़ें - नागौर में बोले भाजपाध्यक्ष- राहुल गांधी सपने देखना छोड़ दें, वसुंधरा का शासन ‘अंगद का पांव’ 

बता दें कि इस बार तेलंगाना में दिलचस्प मुकाबला होता नजर आ रहा है। कांग्रेस, टीडीपी, तेलंगाना जन समिति (टीजेएस) और भाकपा ने टीआरएस से मुकाबला करने के लिए ‘प्रजाकुटामी’ (जनता का गठबंधन) बनाया है। क्या घटक दल अपना-अपना वोट एक-दूसरे को दिला पाएंगे, इस पर सबकी नजर है। राज्य में पिछले विधानसभा चुनाव में महागठबंधन के घटक दलों को मिले मतों का हिस्सा टीआरएस के मत प्रतिशत से अधिक था।  

Todays Beets: