Thursday, November 23, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

कश्मीर को लेकर फारूख अब्दुल्ला ने दिया एक और विवादित बयान, कहा- जब तक नहीं जीतेंगे लोगों का दिल, हिन्दुस्तान का नारा नहीं लगाऊंगा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
कश्मीर को लेकर फारूख अब्दुल्ला ने दिया एक और विवादित बयान, कहा- जब तक नहीं जीतेंगे लोगों का दिल, हिन्दुस्तान का नारा नहीं लगाऊंगा

नई दिल्ली। अक्सर विवादों में रहने वाले पूर्व केन्द्रीय मंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के नेता फारूख अब्दुल्ला ने एक बार फिर से विवादित बयान दिया है। केन्द्र पर हमला करते हुए फारूख अब्दुल्ला ने कहा कि जब तक कश्मीरी लोगों का दिल नहीं जीता जाता तब तक वे हिन्दुस्तान का नारा नहीं लगाएंगे। बता दें कि यह बयान उन्होंने एक बार फिर से नेशनल कांफ्रेंस पार्टी का निर्विरोध अध्यक्ष चुने जाने के बाद दिया है। 

निर्विरोध चुने गए फारूख

गौरतलब है कि फारूख अब्दुल्ला को एक बार फिर से नेशनल कांफ्रेंस का अध्यक्ष चुन लिया गया है, पार्टी नेता अली मोहम्मद सागर ने इस बात की पुष्टि की है। निर्विरोध अध्यक्ष चुने जाने के बाद जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री डाॅक्टर फारूख अब्दुल्ला ने कहा कि अब वे अध्यक्ष के पद पर बने नहीं रहना चाहते हैं। इसके साथ ही उन्होंने केन्द्र पर हमला करते हुए कहा कि सरकार को कश्मीर को लेकर अपनी स्थिति साफ करनी चाहिए। कश्मीर के लोगों के दिलों को जबतक नहीं जीता जाता है तब तक वे हिन्दुस्तान का नारा नहीं लगाएंगे। फारूख अब्दुल्ला ने ये भी कहा कि अगर सरकार कश्मीर की बेहतरी चाहती है तो हमें  स्वायत्त्ता प्रदान कर दे। इस मौके पर उमर अब्दुल्ला ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि यहां बहुत सी बातें हो रही थीं। आज इस फैसले से कई लोग हैरान हुए होंगे। वे सोच रहे होंगे कि यह कैसे हो गया, लेकिन यह अंदर की बात है। उमर ने कहा कि आज नेशनल कांफ्रेंस को डॉ. फारूक अब्दुल्ला की पहले से कहीं ज्यादा जरूरत है। उन्होंने कश्मीर समस्या के समाधान के लिए आंतरिक और बाहरी मोर्चे पर बातचीत की प्रक्रिया पर जोर दिया।

ये भी पढ़ें - नवंबर से सस्ती हो जाएंगी ये चीजें! जीएसटी काउंसिल की बैठक में लगेगी मुहर


बातचीत की प्रक्रिया

आपको बता दें कि केन्द्र सरकार ने राज्य में स्थिति को सुधारने के लिए वहां हर तबके के लोगों से बातचीत की प्रक्रिया भी शुरू की है और इसके लिए आईबी के पूर्व प्रुमख दिनेश्वर शर्मा को नियुक्त भी कर चुकी है। 

 

Todays Beets: