Tuesday, January 22, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

महिला शिक्षकों की प्रताड़ना से परेशान छात्र ने की आत्महत्या की कोशिश, स्कूल में बच्चे उड़ाते थे मजाक

अंग्वाल संवाददाता
महिला शिक्षकों की प्रताड़ना से परेशान छात्र ने की आत्महत्या की कोशिश, स्कूल में बच्चे उड़ाते थे मजाक

कानपुर । एक और देश में स्कूली बच्चों की सुरक्षा को लेकर बहस छिड़ी हुई है, वहीं कानपुर के डीपीएस स्कूल के एक छात्र के एक शिक्षक पर भेदभाव के आरोप लगाते हुए खुदकुशी की कोशिश की। इस मामले में तीन महिला शिक्षकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। छात्र के परिजनों का आरोप है कि शिक्षक उसके साथ भेदभाव करते थे और शनिवार को उसके बैग की तलाशी यह कहते हुए ली कि वह स्कूल में पिस्तौल लाता है। इसके बाद छात्र रात में फिनाइल पीकर सो गया। इस छात्र ने अपना एक सुसाइड नोट भी लिखा, जिसमें उसने महिला शिक्षकों की प्रताड़ना का जिक्र किया है। बहरहाल, छात्र की हालात नाजुक बनी हुई है। इस घटना के बाद प्रशासन ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। आरोप हैं कि तीन शिक्षकों ने क्लास और स्कूल के बच्चों से इस छात्र से बातचीत नहीं करने को कहा था, ऐसे में स्कूल के बच्चे इस छात्र का मजाक भी उड़ाते थे। 

ये भी पढ़ें - डरे सहमे बच्चे रेयान स्कूल पहुंचे, बोले-स्कूल के बाथरूम में नहीं जाएंगे

जानकारी के अनुसार, कल्याणपुर इलाके के स्थित डीपीएस स्कूल के तीन महिला शिक्षकों पर छात्र से भेदभाव करने का आरोप लगा है। पीड़ित परिवार का कहना है कि इन तीन शिक्षकों के चलते ही उनके बेटे ने सुसाइड का प्रयास किया है। पीड़ित पक्ष के लोगों ने बताया कि शनिवार को छात्र स्कूल पहुंचा तो शिक्षकों ने उसे रोककर उसके बैग की तलाश ली। छात्र के तलाशी का कारण पूछने पर बताया गया कि वह स्कूल बैग में पिस्तौल लेकर आता है। इससे आहत बच्चे ने घर जाकर फिनायल पी लिया और सो गया। तबीयत खराब होने पर उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। 


ये भी पढ़ें - BHU हिंसा मामले में 1200 अज्ञात छात्रों पर मुकदमा दर्ज, वीसी ने कहा-साजिश के तहत भड़काई हिंसा

वहीं इस मामले में स्कूल की तीन महिला शिक्षकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया गया है। जांच में सामने आया कि छात्र ने फिनायल पीने के साथ ही एक सुसाइड नोट लिखा था, जिसमें उसने शिक्षकों की प्रताड़ना का जिक्र किया है। 

Todays Beets: