Thursday, October 18, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

महिला शिक्षकों की प्रताड़ना से परेशान छात्र ने की आत्महत्या की कोशिश, स्कूल में बच्चे उड़ाते थे मजाक

अंग्वाल संवाददाता
महिला शिक्षकों की प्रताड़ना से परेशान छात्र ने की आत्महत्या की कोशिश, स्कूल में बच्चे उड़ाते थे मजाक

कानपुर । एक और देश में स्कूली बच्चों की सुरक्षा को लेकर बहस छिड़ी हुई है, वहीं कानपुर के डीपीएस स्कूल के एक छात्र के एक शिक्षक पर भेदभाव के आरोप लगाते हुए खुदकुशी की कोशिश की। इस मामले में तीन महिला शिक्षकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। छात्र के परिजनों का आरोप है कि शिक्षक उसके साथ भेदभाव करते थे और शनिवार को उसके बैग की तलाशी यह कहते हुए ली कि वह स्कूल में पिस्तौल लाता है। इसके बाद छात्र रात में फिनाइल पीकर सो गया। इस छात्र ने अपना एक सुसाइड नोट भी लिखा, जिसमें उसने महिला शिक्षकों की प्रताड़ना का जिक्र किया है। बहरहाल, छात्र की हालात नाजुक बनी हुई है। इस घटना के बाद प्रशासन ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। आरोप हैं कि तीन शिक्षकों ने क्लास और स्कूल के बच्चों से इस छात्र से बातचीत नहीं करने को कहा था, ऐसे में स्कूल के बच्चे इस छात्र का मजाक भी उड़ाते थे। 

ये भी पढ़ें - डरे सहमे बच्चे रेयान स्कूल पहुंचे, बोले-स्कूल के बाथरूम में नहीं जाएंगे

जानकारी के अनुसार, कल्याणपुर इलाके के स्थित डीपीएस स्कूल के तीन महिला शिक्षकों पर छात्र से भेदभाव करने का आरोप लगा है। पीड़ित परिवार का कहना है कि इन तीन शिक्षकों के चलते ही उनके बेटे ने सुसाइड का प्रयास किया है। पीड़ित पक्ष के लोगों ने बताया कि शनिवार को छात्र स्कूल पहुंचा तो शिक्षकों ने उसे रोककर उसके बैग की तलाश ली। छात्र के तलाशी का कारण पूछने पर बताया गया कि वह स्कूल बैग में पिस्तौल लेकर आता है। इससे आहत बच्चे ने घर जाकर फिनायल पी लिया और सो गया। तबीयत खराब होने पर उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। 


ये भी पढ़ें - BHU हिंसा मामले में 1200 अज्ञात छात्रों पर मुकदमा दर्ज, वीसी ने कहा-साजिश के तहत भड़काई हिंसा

वहीं इस मामले में स्कूल की तीन महिला शिक्षकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया गया है। जांच में सामने आया कि छात्र ने फिनायल पीने के साथ ही एक सुसाइड नोट लिखा था, जिसमें उसने शिक्षकों की प्रताड़ना का जिक्र किया है। 

Todays Beets: