Sunday, February 24, 2019

Breaking News

   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||

जम्मू कश्मीर के पंचायत चुनाव में खिला कमल, 5 उम्मीदवारों के खिलाफ नहीं उतरा कोई 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
जम्मू कश्मीर के पंचायत चुनाव में खिला कमल, 5 उम्मीदवारों के खिलाफ नहीं उतरा कोई 

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर में होने वाले निकाय और पंचायत चुनाव के पहले चरण में भारतीय जनता पार्टी के 5 उम्मीदवारों का जीतना तय है। खबरों के अनुसार नामों की स्क्रूटनी करने के बाद पता चला कि इनके खिलाफ किसी उम्मीदवार ने पर्चा दाखिल ही नहीं किया है। बता दें कि घाटी में अनुच्छेद 35 ए के मसले को लेकर नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी ने चुनाव का बहिष्कार किया है। ऐसे में मैदान में सिर्फ कांग्रेस और भाजपा ही हैं। स्थानीय खबरों के अनुसार आतंकियों के द्वारा दी जा रही धमकी भी लोगों के चुनाव में हिस्सा न लेने की बड़ी वजह है। 

गौरतलब है कि आतंकियों ने चुनाव से पहले ही कई जिलों के पंचायत घरों में आग लगा दी थी। आतंकियों ने स्थानीय नौजवानों को एसपीओ, पुलिस या सेना में भर्ती न होने और कार्यरत लोगों को नौकरी छोड़ने की धमकी दी थी। धमकी के बाद आतंकियों ने 4 स्पेशल पुलिस आॅफिसर (एसपीओ) को अगवा कर लिया था जिनमें 3 की हत्या कर दी गई थी और 1 को चेतावनी देकर छोड़ दिया गया था। वहीं दूसरी ओर राज्य में अनुच्छेद 35 ए को खत्म करने की बात को लेकर दोनों राजनीतिक पार्टियां, नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी ने पंचायत चुनाव के बहिष्कार का ऐलान किया था। 


ये भी पढ़ें - आम आदमी ही नहीं पीएम भी जूझ रहे हैं काॅल ड्राॅप समस्या से, दिए तकनीकी समाधान निकालने के निर्देश

यहां बता दें कि दोनों पार्टियों के मैदान से हटने के बाद कांग्रेस और भाजपा के बीच मुकाबला होना है। बुधवार को नामांकन पत्रों की जांच के आखिरी दिन स्क्रूटनी करने के बाद भाजपा के 5 उम्मीदवारों के खिलाफ किसी ने पर्चा ही दाखिल नहीं किया। ऐसे में इनकी जीत तय है और सिर्फ नामों की औपचारिक घोषणा की जानी है। इनमें देवसार म्यूनिसपल कमेटी से सतीश कुमार जुत्शी, अच्छाबल म्यूनिसपल कमेटी से उर्मिला बाली और रिशव बाली, कुलगाम म्यूनिसपल कमेटी से ज्योति गोसानी और बबलू गोसानी शामिल हैं।  

Todays Beets: