Tuesday, December 11, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

जलवायु और मौसम में फर्क होता है, असम की 18 साल की लड़की ने राष्ट्रपति ट्रंप को समझाया

अंग्वाल न्यूज डेस्क
जलवायु और मौसम में फर्क होता है, असम की 18 साल की लड़की ने राष्ट्रपति ट्रंप को समझाया

नई दिल्ली। भारतीय राज्य असम के जोरहाट की एक लड़की ने ग्लोबल वाॅर्मिंग का मजाक उड़ाने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के द्वारा दिए गए बयान पर उन्हें आड़े हाथों लिया है। आस्था सरमाह नाम की इस लड़की ने अमेरिकी राष्ट्रपति को मौसम और जलवायु में फर्क बताया है। बता दें कि इसी महीने की 21 नवंबर को अमेरिका में तापमान शून्य से 2 डिग्री नीचे चला गया था। इस पर ट्वीट करते हुए राष्ट्रपति ट्रंप “क्रूर और विस्तारित ठंड तमाम रिकॉर्ड तोड़ देगी, ग्लोबल वार्मिंग के साथ जो कुछ भी हुआ हो?”

गौरतलब है कि ट्रंप के इस ट्वीट पर कमेंट करते हुए असम की 18 साल की आस्था सरमाह ने कहा कि ‘‘मैं आपसे 54 साल छोटी हूं और कुछ ही दिनों पहले 10वीं की परीक्षा औसत अंकों के साथ पास की है लेकिन मैं आपको बता सकती हूं कि मौसम और जलवायु में फर्क होता है। अगर आपको इसके बारे में नहीं मालूम तो मैं आपको अपनी इनसाइक्लोपीडिया दे सकती हूं जो मेरे पास दूसरी कक्षा में थी। इसमें दृश्य और हर चीज है।”

 


ये भी पढ़ें - सार्क सम्मेलन का हिस्सा नहीं होगा भारत, आतंकवाद और बात एक साथ नहीं- सुषमा स्वराज

यहां बता दें कि आस्था सरमाह के इस कमेंट को दुनिया भर में 22000 लाइक्स मिले हैं। अमेरिका में भी कई लोगों ने आस्था के द्वारा राष्ट्रपति ट्रंप को दिए गए जवाब की सराहना की है। किशोरी के इस ट्वीट को 5100 बार रिट्वीट किया गया और कइयों ने आस्था को “भविष्य की आशा” बताते हुए उसकी प्रशंसा की। बड़ी बात यह भी है कि कुछ लोगों ने अरब सागर पर जलवायु परिवर्तन के असर को लेकर आस्था को इंटर्नशिप कराने की पेशकश भी की है। 

 

Todays Beets: