Saturday, January 20, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

फिर एक भविष्यवाणी, 21 अगस्त को पूर्ण सूर्यग्रहण के बाद 7 सालों में दुनिया की 75 फीसदी आबादी हो जाएगी खत्म

अंग्वाल न्यूज डेस्क
फिर एक भविष्यवाणी, 21 अगस्त को पूर्ण सूर्यग्रहण के बाद 7 सालों में दुनिया की 75 फीसदी आबादी हो जाएगी खत्म

अमूमन पृथ्वी के अंत को लेकर कई तरह की कहानियां और किस्से समय समय पर उठते रहते हैं। एक बार फिर एक नया किस्सा सामने आया है। बात हो रही है 21 अगस्त को होने वाले पूर्ण सूर्यग्रहण की जो 99 साल बाद आ रहा है। कई लोग इन दिन को एपोकलिप् वीक यानी धरती के अंत का अंतिम सप्ताह करार दे चुके हैं। चर्चाएं हो रही हैं कि पूर्ण सूर्यग्रहण होने का मतलब है दुनिया का अंत। भारत समेत एशियाई देशों में भले ही ये चर्चाएं कम हों लेकिन अमेरिका समेत यूरोप के कई देशों में ये चर्चाएं चरम पर हैं और दुनिया भर से लाखों की संख्या में लोग अमेरिका के विभिन्न शहरों में इस सूर्यग्रहण को देखने के लिए पहुंच रहे हैं। 


असल में इन चर्चाओं के पीछे एक ईसाई भविष्यवाणी वेबसाइट की बातों को भी तवज्जों दी जा रही है, जिसका कहना है कि 21 अगस्त को होने वाले सूर्यग्रहण के बाद से दुनिया में क्लेश की शुरुआत होगी। इसी के कारण आने वाले 7 सालों में दुनिया की 75 फीसदी आबादी खत्म हो जाएगी। हालांकि सौर ग्रहण एक खगोलीय घटना है, जिसमें सूर्य और पृथ्वी के बीच से चंद्रमा गुजरता है। जब सूरज के सभी हिस्से को चंद्रमा ढंक लेता है, तो उसे सूर्य ग्रहण कहा जाता है। यह प्रक्रिया लगभग तीन घंटे तक चलती है। ग्रहण के लिए सबसे लंबी अवधि लगभग दो मिनट 40 सेकंड की होती है, जब चंद्रमा पूरी तरह से सूर्य को ढंक लेता है। 

Todays Beets: