Monday, July 23, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

फिर एक भविष्यवाणी, 21 अगस्त को पूर्ण सूर्यग्रहण के बाद 7 सालों में दुनिया की 75 फीसदी आबादी हो जाएगी खत्म

अंग्वाल न्यूज डेस्क
फिर एक भविष्यवाणी, 21 अगस्त को पूर्ण सूर्यग्रहण के बाद 7 सालों में दुनिया की 75 फीसदी आबादी हो जाएगी खत्म

अमूमन पृथ्वी के अंत को लेकर कई तरह की कहानियां और किस्से समय समय पर उठते रहते हैं। एक बार फिर एक नया किस्सा सामने आया है। बात हो रही है 21 अगस्त को होने वाले पूर्ण सूर्यग्रहण की जो 99 साल बाद आ रहा है। कई लोग इन दिन को एपोकलिप् वीक यानी धरती के अंत का अंतिम सप्ताह करार दे चुके हैं। चर्चाएं हो रही हैं कि पूर्ण सूर्यग्रहण होने का मतलब है दुनिया का अंत। भारत समेत एशियाई देशों में भले ही ये चर्चाएं कम हों लेकिन अमेरिका समेत यूरोप के कई देशों में ये चर्चाएं चरम पर हैं और दुनिया भर से लाखों की संख्या में लोग अमेरिका के विभिन्न शहरों में इस सूर्यग्रहण को देखने के लिए पहुंच रहे हैं। 


असल में इन चर्चाओं के पीछे एक ईसाई भविष्यवाणी वेबसाइट की बातों को भी तवज्जों दी जा रही है, जिसका कहना है कि 21 अगस्त को होने वाले सूर्यग्रहण के बाद से दुनिया में क्लेश की शुरुआत होगी। इसी के कारण आने वाले 7 सालों में दुनिया की 75 फीसदी आबादी खत्म हो जाएगी। हालांकि सौर ग्रहण एक खगोलीय घटना है, जिसमें सूर्य और पृथ्वी के बीच से चंद्रमा गुजरता है। जब सूरज के सभी हिस्से को चंद्रमा ढंक लेता है, तो उसे सूर्य ग्रहण कहा जाता है। यह प्रक्रिया लगभग तीन घंटे तक चलती है। ग्रहण के लिए सबसे लंबी अवधि लगभग दो मिनट 40 सेकंड की होती है, जब चंद्रमा पूरी तरह से सूर्य को ढंक लेता है। 

Todays Beets: