Friday, November 16, 2018

Breaking News

   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||   बाजार में मंगलवार को आई बहार, सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त     ||   हिंदूराव अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में निकला सांप , हंगामा     ||   सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के आरोपों के बाद हो सकता है उनका लाइ डिटेक्टर टेस्ट    ||   देहरादून की मॉडल ने किया मुंबई में हंगामा , वाचमैन के साथ की हाथापाई , पुलिस आई तो उतार दिए कपड़े     ||   दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, दो जवान शहीद , दुरदर्शन के कैमरामैन की भी मौत     ||   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||

अब एटीएम में रखे पैसे भी सुरक्षित नहीं, चूहों ने कुतरे 12 लाख रुपये

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अब एटीएम में रखे पैसे भी सुरक्षित नहीं, चूहों ने कुतरे 12 लाख रुपये

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के एटीम रखरखाव पर एक बड़ी लापरवाही का मामला सामने आया है। असम के तिनसुकिया के एक एटीएम में चूहों ने 10-20 हजार नहीं बल्कि पूरे 12 लाख रुपये के नोट कुतर डाले। यह मामला 11 जून को तब सामने आया जब किसी ने इस पूरी घटना की फोटो सोशल मीडिया पर डाली जिसके बाद यह वायरल हो गई।

तिनसुकिया में जब एसबीआई एटीएम के बंद होने की शिकायत आई। इस पर कर्मचारी मशीन ठीक करने पहुंचे जब मशीन खोली गई तो सब हैरान रह गए। उन्होंने देखा की एटीएम में रखे 500 और 2000 के नोटों को चूहों ने बुरी तरह कुतर दिए है। इस बारे में एक बैंक अधिकारी ने बताया की यह एटीएम 20 मई से तकनीकी रुप से खराब बंद था।

ये भी पढ़े-लखनऊ के होटल में लगी भीषण आग, 5 पर्यटक गंभीर रूप से झुलसे

11 जून को शिकायत मिलने पर जब कर्मचारी मशीन ठीक करने पहुंचे तब यह घटना सामने आई। बता दें कि बैंक अधिकारी ने इस घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि चूहों ने लगभग 12 लाख 38 हजार के नोट कुतर दिए। सिर्फ 17 लाख के नोट ही बच पाए हैं। जीबीएस ने 19 मई को मशीन में 20 लाख रुपये डाले थे जिसके अगले दिन से ही एटीएम ने काम करना बंद कर दिया था।


गौरतलब है कि इस घटना कि जांच को लेकर एफआईआर दर्ज करवाई गई है। कुछ लोगों ने इस घटना को लेकर संदेह जाहिर किया है उनका कहना है कि 20 मई के एटीएम बंद हुआ और करीब एक महीने बाद मैकेनिक मशीन ठीक करने पहुंचे।

 

 

Todays Beets: