Sunday, February 24, 2019

Breaking News

   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||

बिहार के गोदाम में चूहों ने एक बार फिर छलकाए ‘जाम’, पी गए सैंकड़ों लीटर शराब

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बिहार के गोदाम में चूहों ने एक बार फिर छलकाए ‘जाम’, पी गए सैंकड़ों लीटर शराब

पटना। बिहार में अपराधियों के साथ चूहे भी बेखौफ हो गए हैं। राज्य में शराबबंदी होने के बाद भी सैंकड़ों लीटर शराब चूहे पी गए। कैमूर जिले के गोदाम में बिहार के अलग-अलग इलाकों में पकड़े गए अवैध शराब के जखीरे को रखा गया था, जब उसे नष्ट करने के लिए निकाला गया तो उसके पहले और बाद के हिसाब में 10 रुपये कस अंतर पाया गया। बता दें कि राज्य में चूहों के द्वारा शराब पी जाने का दूसरा मामला है। 

गौरतलब है कि राज्य के उत्पादन विभाग ने साल 2016 से लेकर अभी तक पकड़े गए शराब के जखीरे को कैमूर जिले के गोदाम में रखा गया था। बताया जा रहा है कि शराब को नष्ट करने से पहले हिसाब लगाया गया तो उसमें पहले के मुकाबले 10 हजार रुपये का अंतर आया जिसके बाद पता चला कि जो शराब कम है वह चूहों ने पी ली है।

ये भी पढ़ें -पुलिस की करतूतों पर ‘अपने’ ही हुए योगी पर हमलावर, कहा- पैसे लेकर हत्या कर रही है 


यहां आपको बता दें कि जिला प्रशासन ने 11 हजार लीटर शराब को नष्ट किया है। इसकी कीमत करीब 30 लाख रुपये बताया जा रहा है। मजिस्ट्रेट के सामने शराब की बोतलों को रोलर से नष्ट किया गया। नष्ट किए गए शराब में देशी विदेशी के अलावा बीयर भी शामिल है। इस बारे में एसडीएम कुमारी अनुपम सिंह का कहना है कि शराब के कार्टन को नष्ट कर दिया गया है और इसका भौतिक सत्यापन चल रहा है कि चूहों ने कितनी शराब नष्ट की है। जांच के बाद ही पूरी स्थिति का पता चल पाएगा।

गौरतलब है कि साल 2017 में भी बिहार में जब्त करीब 9 लाख लीटर से अधिक की शराब चूहे पी गए थे। खबर की जानकारी मिलते ही बिहार पुलिस मुख्यालय ने जांच के आदेश दिए थे। उस समय बिहार के राजनीतिक गलियारों में इस मुद्दे पर खूब बहस हुई थी।  साथ ही आरोप और प्रत्यारोप का भी दौर चला था।

Todays Beets: