Wednesday, January 23, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

लंबे समय से दरकिनार किए गए शिवपाल यादव ने बनाया नया मोर्चा, समाजवादी पार्टी में खलबली 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
लंबे समय से दरकिनार किए गए शिवपाल यादव ने बनाया नया मोर्चा, समाजवादी पार्टी में खलबली 

लखनऊ। काफी लंबे समय से समाजवादी पार्टी से दरकिनार किए गए नेता शिवपाल सिंह ने बुधवार को समाजवादी सेक्यूलर मोर्चा के गठन का ऐलान कर दिया है। शिवपाल सिंह ने मोर्चे का ऐलान करते हुए कहा कि वे पार्टी में उपेक्षित लोगों को जोड़ने के साथ ही छोटी पार्टियों को भी अपने साथ जोड़ने का प्रयास करेंगे। नए मोर्चे का ऐलान करने से पहले शिवपाल सिंह से अपने बड़े भाई मुलायम सिंह यादव से भी मुलाकात की थी। हालांकि शिवपाल सिंह ने कहा कि उन्होंने समाजवादी पार्टी अभी छोड़ी नहीं है। नए मोर्चा के गठन से समाजवादी पार्टी में हड़कंप मचा हुआ है। 

गौरतलब है कि उत्तरप्रदेश के विधानसभा चुनाव के समय ही समाजवादी पार्टी की पारिवारिक कलह सामने आई थी। इसके बाद से ही शिवपाल सिंह यादव और उनके भतीजे अखिलेश यादव के बीच तल्ख्यिां सामने आने लगी थीं। कुछ समय बाद ही उनकी अलग पार्टी बनाने की बातें भी सामने आई थी, यहां तक की इस बात के भी कयास लगाए जा रहे थे कि वे भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो सकते हैं। हालांकि शिवपाल यादव ने इसे महज अफवाह बताया है। 

ये भी पढ़ें - आशुतोष के ट्वीट से ‘आप’ में मचा हड़कंप, केजरीवाल पर जातिगत राजनीति करने का आरोप


यहां बता दें कि शिवपाल सिंह यादव ने पार्टी पर आरोप लगाते हुए कहा कि न तो उन्हें कोई काम ही करने दिया जा रहा है और न ही उनके जैसे नेताओं की कोई इज्जत की जा रही है। शिवपाल ने कहा कि वे नेताजी के प्रति पार्टी के व्यवहार से भी काफी दुखी हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी से उपेक्षित लोगों के लिए समाजवादी सेक्यूलर मोर्चे का गठन किया गया है। शिवपाल यादव ने मोर्चे के गठन से पहले समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव से भी लोहिया ट्रस्ट की बैठक में मुलाकात की थी। इस मिलन के दौरान ही सेक्यूलर मोर्चे के गठन को लेकर चर्चा की गई थी। हालांकि शिवपाल सिंह यादव ने अभी समाजवादी पार्टी से खुद को पूरी तरह से अलग नहीं किया है। 

 

नए मोर्चे के गठन के बाद सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के नेता ओमप्रकाश राजभर ने भी उनसे मुलाकात की थी। शिवपाल के नए मोर्चे से समाजवादी समर्थक अब दो खेमों में बंटने लगे हैं। हालांकि नए मोर्चा के गठन से समाजवादी पार्टी में थोड़ी खलबली तो मची है। 

Todays Beets: