Friday, November 17, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

मोलवी बोले- ध्वजारोहण का आदेश क्यों, क्या हमारी देशभक्ति पर है शक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मोलवी बोले- ध्वजारोहण का आदेश क्यों, क्या हमारी देशभक्ति पर है शक

नई दिल्ली । यूपी और मध्य प्रदेश के मदरसों में 15 अगस्त के दिन ध्वजारोहण के साथ ही वंदे मातरम गाने के आदेशों का दिल्ली के एक मोलवी ने विरोध किया है। दिल्ली के के एक मोलवी मुफ्ती मुक्करम ने कहा कि देश के मदसरों से लिए इस तरह के आदेश पारित नहीं किए जाने चाहिए। इस तरह के आदेश देश के मुसलमानों की वफादारी और देशभक्ति पर सवाल उठाते हैं। मुक्करम ने कहा, इस तरह के आदेशों से देश में  मुसलमानों के बारे में गलत धारणा पैदा होती है। 

मुक्करम ने कहा कि हम लोगों ने भी देश के विकास के लिए अहम योगदान दिया है। हमारे देशभक्ति पर संदेह करने का कोई कारण नहीं होना चाहिए। हम स्वतंत्रता दिवस से पहले एक या दो दिन राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं, लेकिन मुसलमानों पर संदेह करने के लिए या संदेह के साथ उन पर विचार करना गलत है। उन्होंने तर्क दिया कि लोगों के विश्वास के लिए यह आपत्तिजनक है कि मुसलमान देशभक्त नहीं हैं या राष्ट्रवाद विरोधी हैं।


बता दें कि मध्यप्रदेश मदरसा बोर्ड और उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद ने राज्य के सभी मदरसों पर राष्ट्रीय ध्वज फहराए जाने और 15 अगस्त को राष्ट्रीय गान पढ़ाने का आदेश दिया है। आदेश दिया है कि सभी मदरसों द्वारा इन आदेशों का पालन किया जाए। इतना ही नहीं इस सब की वीडियोग्राफी करवाई जाए और उसकी तस्वीरें क्लिक करके बोर्ड के अध्यक्ष को भेजी जाएं। 

Todays Beets: