Tuesday, February 19, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

VHP के पूर्व अध्यक्ष विष्णु हरि डालमिया का 91 साल की उम्र में निधन , शाम को दिल्ली में अंतिम संस्कार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
VHP के पूर्व अध्यक्ष विष्णु हरि डालमिया का 91 साल की उम्र में निधन , शाम को दिल्ली में अंतिम संस्कार

नई दिल्ली । विश्व हिंदू परिषद के वरिष्ठ सदस्य और पूर्व अध्यक्ष विष्णु हरि डालमिया का 91 साल की उम्र में बुधवार सुबह दिल्ली में निधन हो गया। वह पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे थे। अपने गोल्फ लिंक स्थित आवास पर अंतिम सांस ली। उन्हें पिछले महीने ही इलाज के लिए अपोलो अस्पताल में भर्ती करवाया गया था, जिसके बाद उन्हें घर ले आए थे। उनका अंतिम संस्कार दिल्ली में शाम को 4 बजे किया जाएगा। अब आशा जताई जा रही है कि उनके अंतिम संस्कार में संघ और वीएचपी के कई बड़े नेता पहुंचेगे। उनके निधन पर पीएम मोदी , राष्ट्रपति रामनाथ कोबिंद समेत कई केंद्रीय मंत्रियों और संघ के पदाधिकारियों ने शोक जताया है।  

बता दें कि 1924 में जनमे विष्णु हरि डालमिया उद्योगपति होने के साथ-साथ हिंदूवादी नेता थे। अगस्त 1964 में विश्व हिंदू परिषद की स्थापना की गई थी। वे साल 1992 से 2005 तक इसके अध्यक्ष रहे। 1985 में जब श्रीराम जन्मभूमि न्यास की स्थापना की गई तो विष्णु हरि डालमिया को इसका कोषाध्यक्ष बनाया गया। खास बात यह थी कि जब डालमिया मंदिर आंदोलन का नेतृत्व कर रहे थे। उस वक्त उनके बेटे संजय डालमिया समाजवादी पार्टी से सांसद थे।


6 दिसंबर को विवादित ढांचा ढहाए जाने के दो दिन बाद यानी 8 दिसंबर को उन्हें लालकृष्ण आडवाणी, डॉ. मुरली मनोहर जोशी, अशोक सिंघल के साथ गिरफ्तार किया गया। वे डालमिया ग्रुप के संस्थापक जयदयाल डालमिया के सुपुत्र और रामकिशन डालमिया के भतीजे हैं। डालमिया बंधुओं ने ही 40 के दशक में डालमियानगर की नींव रखी थी। 

Todays Beets: