Tuesday, June 18, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

बिहार - महागठबंधन ने फिर टाली सीट बंटवारे के ऐलान की तारीख , अब 22 को हो सकता है ऐलान

अंग्वाल संवाददाता
बिहार - महागठबंधन ने फिर टाली सीट बंटवारे के ऐलान की तारीख , अब 22 को हो सकता है ऐलान

पटना । बिहार में लोकसभा चुनावों के मद्देनजर जहां सियासी मैदान में उतरी NDA और महागठबंधन के दलों में सीधा मुलाकाबला है। वहीं राज्य में सीटों के बंटवारे का मुद्दा सुलझने का नाम नहीं ले रहा है। जहां भाजपा समेत एनडीए के घटक दलों ने सीटों का बंटवारा कर दिया है, लेकिन अभी सीटों पर नामों का ऐलान बाकी है, वहीं राज्य में उन्हें चुनौती देने के लिए खड़ा नजर आ रहा 'खंडित' महागठबंधन अपनी सीटों के बंटवारे को लेकर ही अटका हुआ है। बिहार में पहले चरण के तहत 11 अप्रैल को भी मतदान होना है लेकिन अभी तक महागठबंधन ने अपने उम्मीदवार तो अलग सीटों का भी बंटवारा नहीं किया। इस मामले में शरद यादव का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि होली के अगले दिन 22 मार्च को एक प्रेस वार्ता में सीटों के बंटवारे का ऐलान कर दिया जाएगा। इस सब के बीच भाजपा और जेडीयू नेता बिहार में इस महागठबंधन का नेतृत्व करती नजर आ रही राष्ट्रीय जनता दल पर जमकर हमलावर भी नजर आ रही है।

राज्य में भाजपा को हराने के लिए विपक्षी दलों का महागठबंधन तो बनाने का ऐलान कर दिया है लेकिन सीटों के बंटवारे को लेकर कुछ गतिरोध नजर आ रहे हैं। इसी का परिणाम है कि अभी तक राज्य में महागठबंधन में कौन कौन दल हैं इसका खुलासा नहीं हो सका है साथ ही सीटों के बंटवारे को लेकर भी अभी तक कोई ऐलान नहीं हुआ है। कांग्रेस किसी भूमिका में रहेगी इस बात का भी इंतजार प्रदेश की जनता कर रही है। इस सब के बीच भाजपा प्रवक्ता निखिल आनंद का कहना है कि महागठबंधन में काफी गतिरोध है । एक नेता दूसरे नेता को लोकसभा चुनाव में हराते दिखेंगे। जीतन राम मांझी और उपेन्द्र कुशवाहा जैसे नेता बस RJD कr पालकी उठाते रहे । इन दोनों नेताओं का अस्तित्व की खत्म हो चुका है।  बिहार की जनता नरेन्द्र मोदी को दोबारा अपना प्रधानमंत्री चुनेगी यह बात तय है।

वहीं जदयू ने भी महागठबंधन में सीटों के बंटवारे को लेकर तंज कसा। जदयू नेता दिलीप चौधरी ने कहा है कि महागठबंधन के नेता एक-दूसरे की टांग खिचाई में लगे हैं। उनके बीच कोई तालमेल नजर नहीं आ रहा है। आरजेडी, हम, कांग्रेस और रासलोपा के बीच कोई तालमेल नहीं है। सभी स्वार्थ में लगे हैं, जबकि महागठबंधन सिर्फ कागजों तक सीमित है।


वहीं जदयू को छोड़ 'हम' का झंडा थामने वाले उपेन्द्र प्रसाद का कहना है कि सीट की औपचारिक घोषण भर बाकी है। सभी दलों को उनके हिस्से की सीटें मिल चुकी हैं। उम्मीदवारों को भी इसके बारे में बता दिया गया है। उन्होंने कहा कि मैं खुद औरंगाबाद से हम के सिंबल पर चुनाव लडूंगा । वहीं राजद का कहना है कि महागठबंधन पूरी तरह से एकजुट है। पार्टी नेता विजय प्रकाश ने कहा - गठबंधन में कोई समस्या नहीं , हम देर आएंगे, लेकिन दुरुस्त आएंगे। तेजस्वी यादव के दिल्ली से लौटते ही  औपचारिक रूप से ऐलान कर दिया जाएगा।

 

Todays Beets: