Thursday, December 13, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

विचाराधीन कैंदी तिहाड़ जेल में ले रहे ऐशो-आराम का लुफ्त

अंग्वाल न्यूज डेस्क
विचाराधीन कैंदी तिहाड़ जेल में ले रहे ऐशो-आराम का लुफ्त

नई दिल्ली। देश के सबसे बडे जेल तिहाड़ में कैदियों को दी जाने वाली सुविधाओं को लेकर एक नया मामला सामने आया है। तिहाड़ जेल में कुछ विचाराधीन कैदियों के रुम में दो एयरकंडिशनर मिले हैं। नामी बिल्डर बताए जा रहे इन कैदियों के कमरों में और भी कई प्रकार की प्रतिबंधित चीजें मिली हैं। खबरों के अनुसार ये अपराधी जेल का पानी न पी कर 2 हजार रुपये प्रति लीटर वाला विदेशी ब्रैंड का पानी पीते हैं।

अडिशनल आईजी राजकुमार का कहना है कि अगर जांच के दौरान पता चला कि कमरों में  एसी की इजाजत सुप्रीम कोर्ट ने नहीं दी थी तो इस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। खबरों के अनुसार ये सारा सामान जेल के कमरा नंबर 1 में मिला है। कैंदियों के कमरो में 10 जोड़ी जूते, विदेशी परफ्यूम, पैक्ड खाने जैसी चीजें मिली हैं। इस मामले में जेल प्रशासन की लापरवाही भी सामने आई है। जेल के गेट पर तैनात पुलिसकर्मी उनकी कार की चैकिंग नहीं करते थे।


सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर कैदियों के कमरे में 3 ऐसी अलमारियां भी मिली हैं, जिन्हें खोला नहीं जा सका है। जांच के दौरान कैदियों ने चाबी नहीं होने का हवाला देते हुए अलमारियां खोलने से इंकार कर दिया। 

इस दौरान ये भी पता लगा था कि कुछ कैदी जेल के अंदर चिकन-मटन की पार्टीकर रहे थे। इसके बाद तिहाड़ जेल प्रशसन ने इस मामले की जांच डीआईजी एसएस परिहार को सौपी। जांच की रिपोर्ट अगले सप्ताह तक आने की उम्मीद है।यहां बता दे कि बुधवार को भी एक कार के अंदर कुछ चीजें मिली थीं। सूत्रों का कहना है कि जेल कैंपस में कार में भरकर कोई भी कुछ चीजें ले आता है और गेट पर ठीक से जांच नहीं की जाती।

Todays Beets: