Thursday, October 18, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

विचाराधीन कैंदी तिहाड़ जेल में ले रहे ऐशो-आराम का लुफ्त

अंग्वाल न्यूज डेस्क
विचाराधीन कैंदी तिहाड़ जेल में ले रहे ऐशो-आराम का लुफ्त

नई दिल्ली। देश के सबसे बडे जेल तिहाड़ में कैदियों को दी जाने वाली सुविधाओं को लेकर एक नया मामला सामने आया है। तिहाड़ जेल में कुछ विचाराधीन कैदियों के रुम में दो एयरकंडिशनर मिले हैं। नामी बिल्डर बताए जा रहे इन कैदियों के कमरों में और भी कई प्रकार की प्रतिबंधित चीजें मिली हैं। खबरों के अनुसार ये अपराधी जेल का पानी न पी कर 2 हजार रुपये प्रति लीटर वाला विदेशी ब्रैंड का पानी पीते हैं।

अडिशनल आईजी राजकुमार का कहना है कि अगर जांच के दौरान पता चला कि कमरों में  एसी की इजाजत सुप्रीम कोर्ट ने नहीं दी थी तो इस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। खबरों के अनुसार ये सारा सामान जेल के कमरा नंबर 1 में मिला है। कैंदियों के कमरो में 10 जोड़ी जूते, विदेशी परफ्यूम, पैक्ड खाने जैसी चीजें मिली हैं। इस मामले में जेल प्रशासन की लापरवाही भी सामने आई है। जेल के गेट पर तैनात पुलिसकर्मी उनकी कार की चैकिंग नहीं करते थे।


सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर कैदियों के कमरे में 3 ऐसी अलमारियां भी मिली हैं, जिन्हें खोला नहीं जा सका है। जांच के दौरान कैदियों ने चाबी नहीं होने का हवाला देते हुए अलमारियां खोलने से इंकार कर दिया। 

इस दौरान ये भी पता लगा था कि कुछ कैदी जेल के अंदर चिकन-मटन की पार्टीकर रहे थे। इसके बाद तिहाड़ जेल प्रशसन ने इस मामले की जांच डीआईजी एसएस परिहार को सौपी। जांच की रिपोर्ट अगले सप्ताह तक आने की उम्मीद है।यहां बता दे कि बुधवार को भी एक कार के अंदर कुछ चीजें मिली थीं। सूत्रों का कहना है कि जेल कैंपस में कार में भरकर कोई भी कुछ चीजें ले आता है और गेट पर ठीक से जांच नहीं की जाती।

Todays Beets: