Saturday, May 25, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

मेरठ में एक अफवाह ने उजाड़ दिए 100 घर , हिंसा पर उतारु लोगों का हाईवे पर उत्पात, रोडवेज की बसों -वाहनों में तोड़फोड़

अंग्वाल संवाददाता
मेरठ में एक अफवाह ने उजाड़ दिए 100 घर , हिंसा पर उतारु लोगों का हाईवे पर उत्पात, रोडवेज की बसों -वाहनों में तोड़फोड़

मेरठ । यूपी के मेरठ स्थित सदर में मलिन बस्ती में अवैध निर्माण को ढहाने पहुंची कैंट बोर्ड की टीम को लेकर फैली एक अफवाह ने शहर में हालात तनावपूर्ण कर दिए हैं। खबर फैली की पुलिस की टीम अवैध वसूली के लिए पहुंची है, जिसके बाद कैंट बोर्ड के कर्मियों और पुलिस के जवानों की स्थानीय लोगों के साथ झड़प हो गई। कुछ देर बाद वहां लोगों ने पुलिस दल पर पथराव कर दिया। इस दौरान कुछ शरारती तत्वों ने इलाके की कुछ कच्चे घरों में आग लगा दी। यह आग इस कदर फैली की करीब 100 कच्चे घरों को पूरी तरह स्वाहा कर गई। इसके बाद गुस्साए लोगों ने हाईवे पर पहुंचकर वहां रोडवेज की गाड़ियों समेत कुछ अन्य वाहनों में जमकर तोड़फोड़ की। इसके चलते इलाके में तनाव फैल गया है। पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।

बता दें कि मेरठ कैंट के थाना सदर इलाके की मलिन बस्ती में कैंट बोर्ड की टीम पुलिस के साथ अवैध निर्माण हटवाने गई थी। तभी ये बात फैल गई कि बोर्ड और पुलिस की टीम अवैध वसूली के मकसद से पहुंची है। इसके बाद कुछ लोग जहां इस टीम से भिड़ गई, वहीं कुछ लोगों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। पुलिस ने ऐसे हालात में लाठाचीर्ज कर दिया। हालांकि इस दौरान कुछ शरारती तत्वों ने कुछ घरों में आग लगा दी, जबकि स्थानीय लोगों का कहना है कि पुलिस वालों ने ही घरों में आग लगाई है। इन झुग्गियों और कच्चे मकानों में मौजूद सिलेंडरों ने आग को भड़काने का काम किया। आलम ये हो गया कि करीब 100 से ज्यादा घरों को यह आग तबाह कर गई।


फायर ब्रिगेड की कई गाड़ियों ने इस आग पर घंटों की मशक्कत के बाद काबू पाया, लेकिन तब तक लोगों के घर का सामान पूरी तरह स्वाहा हो गया था।

उधर, इस घटना से गुस्साए लोगों ने मेरठ हाईवे पर जाकर रोडवेज की बसों समेत सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाना शुरू कर दिया । इन लोगों ने सड़क पर जाम लगाते हुए जमकर उत्पाद मचाया। मामले की गम्भीरता को देखते हुए आस-पास के इलाकों से पुलिस बल को बुला कर तैनात कर दिया गया। इतना ही नहीं मौके पर एनडीआरएफ की टीम भी पहुंच गई।

इस दौरान खबर है कि इस हंगामे में जहा पुलिस समेत कई स्थानीय लोग घायल हुए हैं, वहीं पुलिसवालों के हथियार और वायरलेस भी छीन लिए।

 

Todays Beets: