Saturday, July 21, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

गूगल को भाया पटना के ‘आर्यन’ का ऐप, इनामी राशि को गरीबों में दान करने की गुजारिश 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
गूगल को भाया पटना के ‘आर्यन’ का ऐप, इनामी राशि को गरीबों में दान करने की गुजारिश 

पटना। बिहार के 9वीं कक्षा के छात्र आर्यन राज ने तकनीक के क्षेत्र में तीन नए ऐप को बनाकर अपने साथ पूरे प्रदेश का नाम रोशन किया है। बड़ी बात यह है कि आर्यन के इन तीनों ऐप को सबसे बड़े सर्च इंजन गूगल ने एडाॅप्ट किया है और आर्यन को 2 लाख रुपये का इनाम देने का ऐलान किया है लेकिन छात्र ने इनाम की राशि लेने के बजाय इसे गरीबों में दान कर देने की बात कही है। आर्यन की इच्छा आईआईटी में दाखिला लेकर इंजीनियर बनने की है। 

गौरतलब है कि स्कूल के बाद आर्यन का ज्यादातर समय मोबाइल और कंप्यूटर पर बीतता है। ऐसे में उसने तीन ऐप, ‘कंप्यूटर शाॅर्टकट की’, ‘मोबाइल शाॅर्टकट की’ और ‘व्हाट्सऐप क्लीनर लाइट’ बनाया है। कंप्यूटर शार्टकट की और मोबाईल साफ्टवेयर की के जरिए किसी भी कंप्यूटर या मोबाइल आपरेटर आसानी से किसी भी साफ्टवेयर फंक्शन को ऑपरेट कर सकते हैं। वहीं व्हाट्सएप क्लीनर लाइट व्हाट्सएप की जंक फाइल को खुद स्कैन कर डिलीट कर देता है। आर्यन ने गूगल की 2 लाख रुपयों की पुरस्कार राशि को लेने से इंकार किया है और गूगल से अनुरोध किया कि इस रकम को गरीबों को दान कर दिया जाए। 


ये भी पढ़ें - केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह ने कहा- हाउसिंग प्रोजेक्ट के लिए नहीं काटे जाएंगे पेड़

यहां बता दें कि आर्यन पहले यूपीएससी क्वालीफाई कर प्रशासनिक अधिकारी बनना चाहता था लेकिन हाल के दिनों में इन अधिकारियों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगने और उनकी गिरफ्तारी के बाद अपना मन बदल लिया। अब वह इंजीनियर बनना चाहता है लेकिन वह अपनी आगे की योजना के बारे में किसी को कुछ नहीं बता रहा है।   

Todays Beets: