Wednesday, January 23, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

गूगल को भाया पटना के ‘आर्यन’ का ऐप, इनामी राशि को गरीबों में दान करने की गुजारिश 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
गूगल को भाया पटना के ‘आर्यन’ का ऐप, इनामी राशि को गरीबों में दान करने की गुजारिश 

पटना। बिहार के 9वीं कक्षा के छात्र आर्यन राज ने तकनीक के क्षेत्र में तीन नए ऐप को बनाकर अपने साथ पूरे प्रदेश का नाम रोशन किया है। बड़ी बात यह है कि आर्यन के इन तीनों ऐप को सबसे बड़े सर्च इंजन गूगल ने एडाॅप्ट किया है और आर्यन को 2 लाख रुपये का इनाम देने का ऐलान किया है लेकिन छात्र ने इनाम की राशि लेने के बजाय इसे गरीबों में दान कर देने की बात कही है। आर्यन की इच्छा आईआईटी में दाखिला लेकर इंजीनियर बनने की है। 

गौरतलब है कि स्कूल के बाद आर्यन का ज्यादातर समय मोबाइल और कंप्यूटर पर बीतता है। ऐसे में उसने तीन ऐप, ‘कंप्यूटर शाॅर्टकट की’, ‘मोबाइल शाॅर्टकट की’ और ‘व्हाट्सऐप क्लीनर लाइट’ बनाया है। कंप्यूटर शार्टकट की और मोबाईल साफ्टवेयर की के जरिए किसी भी कंप्यूटर या मोबाइल आपरेटर आसानी से किसी भी साफ्टवेयर फंक्शन को ऑपरेट कर सकते हैं। वहीं व्हाट्सएप क्लीनर लाइट व्हाट्सएप की जंक फाइल को खुद स्कैन कर डिलीट कर देता है। आर्यन ने गूगल की 2 लाख रुपयों की पुरस्कार राशि को लेने से इंकार किया है और गूगल से अनुरोध किया कि इस रकम को गरीबों को दान कर दिया जाए। 


ये भी पढ़ें - केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह ने कहा- हाउसिंग प्रोजेक्ट के लिए नहीं काटे जाएंगे पेड़

यहां बता दें कि आर्यन पहले यूपीएससी क्वालीफाई कर प्रशासनिक अधिकारी बनना चाहता था लेकिन हाल के दिनों में इन अधिकारियों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगने और उनकी गिरफ्तारी के बाद अपना मन बदल लिया। अब वह इंजीनियर बनना चाहता है लेकिन वह अपनी आगे की योजना के बारे में किसी को कुछ नहीं बता रहा है।   

Todays Beets: