Tuesday, August 14, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

दफ्तरों में महिलाओं सेे यौन उत्पीड़न की शिकायत का जल्द होगा समाधान, हरियाणा सरकार ने बनाई नई समिति 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
दफ्तरों में महिलाओं सेे यौन उत्पीड़न की शिकायत का जल्द होगा समाधान, हरियाणा सरकार ने बनाई नई समिति 

चंडीगढ़। हरियाणा में अब दफ्तरों में महिला कर्मियों के साथ यौन उत्पीड़न करने वाले बच नहीं पाएंगे। सरकार ने कार्यस्थल पर महिलाओं के यौन उत्पीड़न की शिकायतों के निवारण के लिए मुख्य सचिव कार्यालय की आंतरिक शिकायत समिति गठित कर दी है। बता दें कि सरकार ने सीनियर आईएएस सुनील गुलाटी पर जूनियर आईएएस के यौन शोषण के आरोप लगाने पर नए सिरे से कमेटी का गठन किया है। आईएएस एवं अन्य अधिकारियों को कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न के मामले में इस समिति के समक्ष अपनी शिकायत देनी होगी।

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले आईएएस नीरजा शेखर की अध्यक्षता में सीमित सदस्यों के साथ यह कमेटी गठित की गई थी जिसका अब विस्तार किया गया है। मुख्य सचिव कार्यालय ने अब सहकारिता और सतर्कता विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव नवराज संधू को समिति की अध्यक्ष बनाया है।

ये भी पढ़ें- सरकार बेच सकती है कि एयर इंडिया के 100 फीसदी शेयर, निजीकरण की प्रक्रिया पर हो रहा विचार


यहां बता दें कि सदस्यों में शिक्षा विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव धीरा खंडेलवाल, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की प्रधान सचिव नीरजा शेखर, विधि विभाग के विधि परामर्शी-सह-विधि सचिव कुलदीप जैन, सामान्य प्रशासन विभाग के सचिव विजयेंद्र कुमार, राजनीति एवं सेवाएं विभाग के सचिव अशोक सांगवान, महिला एवं बाल विकास विभाग की निदेशक व विशेष सचिव हेमा शर्मा, प्रशासन विभाग के उप सचिव मदन लाल को शामिल किया गया है। एनजीओ सदस्य के रूप में डॉ. विधु मोहन शामिल किए गए हैं।

हरियाणा सरकार द्वारा बनाई गई समिति के अध्यक्ष और प्रत्येक सदस्य का कार्यकाल समिति के गठन की तिथि से 3 सालों का होगा। कार्यस्थल पर महिलाओं के यौन उत्पीड़न (रोकथाम, निषेध और निवारण) अधिनियम, 2013 की धारा 21 के तहत आंतरिक शिकायत समिति हर कलेंडर वर्ष में सरकार को अपनी वार्षिक रिपोर्ट देगी। मुख्य सचिव कार्यालय ने कमेटी गठन की अधिसूचना जारी कर दी है। आईएएस एवं अन्य अधिकारियों को कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न के मामले में इस समिति के समक्ष अपनी शिकायत देनी होगी। 

Todays Beets: