Sunday, December 16, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

दफ्तरों में महिलाओं सेे यौन उत्पीड़न की शिकायत का जल्द होगा समाधान, हरियाणा सरकार ने बनाई नई समिति 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
दफ्तरों में महिलाओं सेे यौन उत्पीड़न की शिकायत का जल्द होगा समाधान, हरियाणा सरकार ने बनाई नई समिति 

चंडीगढ़। हरियाणा में अब दफ्तरों में महिला कर्मियों के साथ यौन उत्पीड़न करने वाले बच नहीं पाएंगे। सरकार ने कार्यस्थल पर महिलाओं के यौन उत्पीड़न की शिकायतों के निवारण के लिए मुख्य सचिव कार्यालय की आंतरिक शिकायत समिति गठित कर दी है। बता दें कि सरकार ने सीनियर आईएएस सुनील गुलाटी पर जूनियर आईएएस के यौन शोषण के आरोप लगाने पर नए सिरे से कमेटी का गठन किया है। आईएएस एवं अन्य अधिकारियों को कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न के मामले में इस समिति के समक्ष अपनी शिकायत देनी होगी।

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले आईएएस नीरजा शेखर की अध्यक्षता में सीमित सदस्यों के साथ यह कमेटी गठित की गई थी जिसका अब विस्तार किया गया है। मुख्य सचिव कार्यालय ने अब सहकारिता और सतर्कता विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव नवराज संधू को समिति की अध्यक्ष बनाया है।

ये भी पढ़ें- सरकार बेच सकती है कि एयर इंडिया के 100 फीसदी शेयर, निजीकरण की प्रक्रिया पर हो रहा विचार


यहां बता दें कि सदस्यों में शिक्षा विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव धीरा खंडेलवाल, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की प्रधान सचिव नीरजा शेखर, विधि विभाग के विधि परामर्शी-सह-विधि सचिव कुलदीप जैन, सामान्य प्रशासन विभाग के सचिव विजयेंद्र कुमार, राजनीति एवं सेवाएं विभाग के सचिव अशोक सांगवान, महिला एवं बाल विकास विभाग की निदेशक व विशेष सचिव हेमा शर्मा, प्रशासन विभाग के उप सचिव मदन लाल को शामिल किया गया है। एनजीओ सदस्य के रूप में डॉ. विधु मोहन शामिल किए गए हैं।

हरियाणा सरकार द्वारा बनाई गई समिति के अध्यक्ष और प्रत्येक सदस्य का कार्यकाल समिति के गठन की तिथि से 3 सालों का होगा। कार्यस्थल पर महिलाओं के यौन उत्पीड़न (रोकथाम, निषेध और निवारण) अधिनियम, 2013 की धारा 21 के तहत आंतरिक शिकायत समिति हर कलेंडर वर्ष में सरकार को अपनी वार्षिक रिपोर्ट देगी। मुख्य सचिव कार्यालय ने कमेटी गठन की अधिसूचना जारी कर दी है। आईएएस एवं अन्य अधिकारियों को कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न के मामले में इस समिति के समक्ष अपनी शिकायत देनी होगी। 

Todays Beets: