Saturday, February 16, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

यूपी में अब बगैर टीईटी वाले अध्यापक नहीं दे सकते स्कूलों में सेवाएं

अंग्वाल न्यूज डेस्क
यूपी में अब बगैर टीईटी वाले अध्यापक नहीं दे सकते स्कूलों में सेवाएं

नई दिल्ली। इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश ने  यूपी में  अध्यापकों के लिए समस्या पैदा कर दी है। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एनसीटीई के 11 फरवरी के सर्कुलर क्लॉज 5(2) के तहत निर्धारित योग्यता के बगैर टीईटी उत्तीर्ण सहायक अध्यापकों की जांच कर नौकरी से हटाने के आदेश दिए हैं। हाईकोर्ट  ने बेसिक शिक्षा आधिकारियों को कहा है की अयोग्य अध्यापकों के  खिलाफ कार्यवाही करें।

यहां बता दें की इससे पहले एकलपीठ ने इस मामले में फैसला देते हुए कहा था कि याची को प्रत्यावेदन देने  और बीएसए को  कार्यवाही करने के आदेश  दिए थे लेकिन हाईकोर्ट ने आदेश में संशोधन करते हुए कहा की याचियों को यह नहीं कहा जा सकता की कौन अध्यापक सांइस और गणित विषयों को पढ़ने की योग्यता रखता था और कौन नहीं । यह कार्य बीएसए की जार्च और सुनवाई के बाद ही कहा जा सकता है।

 याचियों का कहना है कि टीईटी की परीक्षा को पास करके वह लोग भी सहायक अध्यापक बन गए हैं  जिनके पास स्नातक में सांइस और गणित के विषय नहीं थे, जबकि 2011 के स्रर्कुलर में यह साफ लिखा हुआ था कि की गणित और साइंस में स्नातक ही अध्यापक बन सकते हैं।


कोर्ट के आदेश के बाद बीएसए जार्च करने के बाद कार्यवाही करनी होगी की किस अध्यापक के पास स्नातन में गणित और साइंस के विषय थे।

 

Todays Beets: