Monday, October 23, 2017

Breaking News

   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||

नीतीश तो भस्मासुर निकला...बोला था हम बूढ़े हो गए, अब बच्चा लोग आगे संभालेंगे - लालू यादव

अंग्वाल न्यूज डेस्क
नीतीश तो भस्मासुर निकला...बोला था हम बूढ़े हो गए, अब बच्चा लोग आगे संभालेंगे - लालू यादव

पटना। बिहार की सिसायत में आए भूचाल के बाद राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने सीएम नीतीश कुमार को अवसरवादी नेता करार दिया। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ने मेरे घर आकर मुझसे समर्थन मांगा था, उस दौरान कह रहे थे कि हम लोग अब बूढ़े हो गए हैं, अब आगे बच्चा लोग ही सरकार संभालेंगे। हमने तो भोले बाबा की तरह ठीक कह दिया लेकिन यह नीतीश भस्मासुर निकला। नीतीश कुमार ने ही भाजपा के साथ मिलकर हमारे परिवार पर सीबीआई के मामले दर्ज करवाए थे। लालू यादव ने कहा कि इस पूरे घटनाक्रम के दौरान हम रांची पर थे लेकिन इस्तीफा देने को लेकर नीतीश ने हमसे कोई बात भी नहीं की, असल में वह मोदी और अमित शाह के साथ खाना खाते रहे और उन्होंने सुशील मोदी को चेहरा बनाकर हमसे छल किया।

इस दौरान लालू ने कहा कि अब हम इस मुद्दे को लेकर सुप्रीम कोर्ट में जाएंगे। हम बिहार में सबसे बड़ा दल थे बावजूद इसके हमें सरकार बनाने के लिए नहीं बुलाया गया। जबकि नीतीश कुमार 302 के मामले में आरोपी है। उनके खिलाफ एफआईआर हुई है। बह एक हत्या के मामले मे मुजरिम है। मैं यह बात हवा में नहीं बल्कि दस्तावेजों के साथ कह रहा हूं।

सत्ता से बेदखल होने पर बोखलाए लालू प्रसाद यादव ने कहा कि नीतीश कुमार ने भाजपा के साथ पहले ही मैच फिक्स कर लिया था। अमित शाह के साथ साजिश रचकर नीतीश ने सुशील मोदी को चेहरा बनाकर हमसे छल किया। नीतीश ने ही हमारे खिलाफ सीबीआई केस करवाए हैं। हालांकि हमें पहले से पता था नीतीश अवसरवादी है। वही हमारे पास आए थे। मेरे घर पर सीढ़ी के नीचे राबड़ी देवी के सामने, मैंने इस गठबंधन के लिए मना किया था क्योंकि मैं नीतीश कुमार को जानता हूं मैं उनकी कई निजी बातें भी जानता हूं लेकिन यह कहना ठीक नहीं। उस दौरान नीतीश खुद बोले थे- भाई साहब अब हम बूढ़े हो गए हैं अब ये ही सब बच्चा लोग अब आगे संभालेंगे। हम उनकी बातों को सुनने के बाद ठीक है बोल दिए, लेकिन अब ये नीतीश ही भस्मासुर बन गया।


उन्होंने कहा कि एक दोस्त मुश्किल में काम आता है लेकिन नीतीश तो अवसरवादी निकला और हमारे साथ छल किया। इतना ही नहीं वे राज्य को विकास नहीं विनाश की ओर ले गए। उन्होंने राज्य में शराबबंदी के नाम पर धोखा दिया। राज्य में शराब की होम डिलिवरी हो रही है। हालांकि हमारा लड़का तेजस्वी यादव बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा था, यह उनसे नहीं देखा गया। आखिर तेजस्वी ने कौन सा घपला किया। हममें भी सत्ता का कोई लालच नहीं था, अगर होता तो हम नीतीश को सीएम नहीं बनने देते। 

इस दौरान लालू ने मीडिया पर भी हमला बोला- उन्होंने कहा कि आजकल सब मोदी का गुणगान करने में जुटे हैं। मीडिया हाउस में संपादक भी अब अपनी मर्जी से खबर नहीं लिख सकते जो मालिक बोलता है वही खबर छापी जाती है। 

Todays Beets: