Thursday, October 18, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

दिल्ली फ्लाइओवर घोटाला- मुआवजे के नाम पर नॉर्थ एमसीडी ने 'खास' को पहुंचाया फायदा, 110 करोड़ का लगाया चूना

अंग्वाल न्यूज डेस्क
दिल्ली फ्लाइओवर घोटाला- मुआवजे के नाम पर नॉर्थ एमसीडी ने

 

नई दिल्ली । उत्तरी दिल्ली नगर निगम की एडिशनल कमिश्र्नर रेंणु के. जगदेव ने रानी झांसी रोड सेपरेटर फ्लाइओवर कंस्ट्रक्शन अधिग्रहीत जमीन के मुआवजे पर जो सवाल उठाए थे, अब उसमें हेराफेरी की खबरें सामने आ रही हैं। एमसीडी को जिन 12 लोगों को मुआवजा देना था, उन्हें 40 गज जमीन और 1 लाख रुपये देकर बात को खत्म किया गया। हालांकि इस मामले में 110 करोड़ रुपये का मुआवजा एक ऐसे व्यक्ति को दिया गया, जिसका इस प्रोजेक्ट से कोई लेना-देना ही नहीं था। हालांकि मुआवजा प्राप्त करने वाला व्यक्ति 2016 से ही फरार है।

पूर्व एडिशनल कमिश्र्नर ने इस मुद्दे को लेकर लिखे एक पत्र के कहा था कि एमसीडी अफसरों ने फ्लाइओवर निर्माण के लिए जितनी जमीन का आधिग्रहण किया, उतनी जमीन की जरुरत ही नहीं थी। कुल मिलाकर 698 वर्ग मीटर जमीन का अधिग्रहण करने की जरुरत थी, हालांकि अफसरो ने मॉडल बस्ती में 1244.63 वर्ग मीटर, आजाद मार्केट में 3430 मीटर, बर्फ खाना की 1183.91 और मेथोडिस्ट चर्च ऑफ इंडिया की 6376.21 वर्ग मीटर जमीन ली।

ये भी पढ़े- कानपुर में मौसम ने बरपाया कहर, हीटस्ट्रोक की चपेट में आने से 7 लोगों की मौत


इसके अलावा भी सेंट स्टीफन, रेलवे और डूसिब की जमीन एक्वायर की। चर्च की जमीन लेने के बाद 12 लोगों को मुआवजा देना था, जो 110 करोड़ रुपये था , लेकिन इन सभी लोगों को चर्च में ही 40 गज जमीन और 1-1 लाख रुपये का मुआवजा दिया गया। एडिशनल कमिश्र्नर की रिपोर्ट के मुताबिक 110 करोड़ का मुआवजा अभिषेक गुप्ता नाम के एक शख्स को दिया गया, जो 2016 से फरार है। इस मामले की जांच विजिलेंस डिपार्टमेंट को सौंपी गई थी , लेकिन वो अभी तक अभिषेक गुप्ता को ढूंढ नहीं पाया है।

ये भी पढ़े- आतंकियों ने जम्मू बस अड्डे पर किया ग्रेनेड से हमला, एसएचओ समेत 5 नागरिक घायल, तलाशी अभियान तेज

चर्च के सदस्य विनोद सैमसन का कहना है कि चर्च परिसर में 12 लोगों के मकान थे। इन 12 लोगों को कोर्ट ने मुआवजा देने को कहा था। कोर्ट ने 2.34 लाख रुपये / वर्ग मीटर के हिसाब से मुआवजा देने के लिए कहा था । बावजूद सके एमसीडी अफसरों ने सभी 12 लोगों को 40 गज जमीन और 1 लाख रुपये ही मुआवजे के तौर पर दिए। 110 करोड़ रुपये किसी और को दे दिएं, इस बारे में किसी को कोई जानकारी नहीं है।

Todays Beets: