Friday, January 19, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

गोरखपुर के बाद फर्रुखाबाद से 49 बच्चों की मौत का मामला आया सामने, ऑक्सीजन-दवा की कमी है वजह 

अंग्वाल संवाददाता
गोरखपुर के बाद फर्रुखाबाद से 49 बच्चों की मौत का मामला आया सामने, ऑक्सीजन-दवा की कमी है वजह 

लखनऊ। यूपी के फर्रुखाबाद से गोरखपुर जैसे बच्चों की मौत का मामला सामने आया है। यहां भी ऑक्सीजन और दवाइयों की कमी के चलते 49 बच्चों की मौत हो गई। फर्रुखाबाद के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में 30 दिन में 49 बच्चों की मौत पर जिला प्रशासन ने जांच के बाद, मामले में रिपोर्ट दर्ज करा दी है। जांच में बच्चों की मौत का कारण इलाज में लापरवाही होना पाया गया है। रिपोर्ट के अनुसार, फर्रुखाबाद के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में 20 जुलाई से लेकर 21 अगस्त तक 49 बच्चों की मौत का आंकड़ा सामने आया था, जिसमें से 19 बच्चों की मौत प्रसव के दौरान और 30 बच्चों की मौत केयर यूनिट में इलाज के दौरान हुई थी। इस मामले में जिला प्रशासन ने पैनल से जांच कराई थी, जिसमें सिटी मजिस्ट्रेट एसडीएम व लहसीलदार ने संयुक्त जांच की। वहीं एफआईआर  के विरोध अस्पताल के डॉक्टर हड़ताल पर चले गए हैं। 

यह भी पढ़े-  'बिहार में लाखों लीटर शराब पीने वाले चूहों की वजह से बिहार में आई बाढ़'

 


 अभी तक जांच में इस बात का खुलासा नहीं हो सका हैं कि अस्पताल में हुई बच्चों की मौत इलाज के दौरान ऑक्सीजन और दवाओं की कमी व लापरवाही के चलते हुई है। इस मामले में जांच रिपोर्ट के आधार पर मजिस्ट्रेट ने फर्रुखाबाद कोतवाली में सीएमओ और राम मनोहर लोहिया अस्पताल के सीएमएस व डॉक्टर के खिलाफ धारा 176, 188 और 304 के अंतर्गत मुकदमा दर्ज किया गया है। डीएम ने एफआईआर के बाद सीएमओ और सीएमएस को तत्काल प्रभाव से हटा दिया है। 

यह भी पढ़े- क्लास में साथी से हुआ झगड़ा तो मार दी गोली, देखें घटना का पूरा वीडियो...

Todays Beets: