Monday, September 24, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

यूपी में सरकारी विश्वविद्यालय के प्राध्यापकों के आए ‘अच्छे दिन’, योगी सरकार ने दिया सातवें वेतनमान का तोहफा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
यूपी में सरकारी विश्वविद्यालय के प्राध्यापकों के आए ‘अच्छे दिन’, योगी सरकार ने दिया सातवें वेतनमान का तोहफा

लखनऊ। उत्तरप्रदेश सरकार ने राज्य के सरकारी विश्वविद्यालयों में सेवारत प्राध्यापकों को एक बड़ा तोहफा दिया है। मंगलवार को योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट ने इन्हें सातवें वेतनमान देने के फैसले पर मुहर लगा दी है। विश्वविद्यालयों के प्राध्यापकों को 1 जनवरी 2016 से सातवें वेतनमान का फायदा मिलेगा। इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा ने कि अगर इंजीनियरिंग और कृषि विश्वविद्यालय की ओर से ऐसी मांग आती है तो उन्हें भी इसका फायदा दिया जाएगा। प्राध्यापकों को सातवें वेतनमान का फायदा देने के अलावा अन्य कई फैसलों पर भी मुहर लगाई है।

गौरतलब है कि सीएम योगी ने राज्य में मंगलवार से आयुष्मान भारत योजना के ट्रायल की भी शुरुआत की है। इसके लिए 921 करोड़ रुपये का बजट सरकार देगी। योगी सरकार ने प्रदेश में बिजली की व्यवस्था को भी दुरुस्त करने के लिए ग्रेटर नोएडा और बस्ती इलाके में 400-400 केवी के बिजली उपकेन्द्र की स्थापना करने के फैसले को मंजूरी दी है। इस उपकेन्द्र के चालू होने से बिजली की व्यवस्था में काफी सुधार होगा।


ये भी पढ़ें - दिल्ली के भलस्वा डेयरी इलाके में हुई माॅब लिंचिंग, नाबालिग चोर की पीट-पीटकर हत्या

आपको बता दें कि सीएम ने कहा कि अगर किसानों की जमीनों पर बिजली के पोल लगाए जाते हैं तो उन्हंे सर्किल रेट का 85 फीसदी मुआवजा दिया जाएगा। इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के सौन्दर्यीेकरण के लिए भी कई प्रोजेक्ट को हरी झंडी दिखाई गई है। इसके साथ ही प्रदेश में समाजवादी पार्टी के समय में लगाए गए 4 उद्योगों को सरकार की ओर से 125 करोड़ का वित्तीय लाभ दिया जाएगा। 

Todays Beets: