Thursday, November 26, 2020

Breaking News

   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||   लक्ष्मी विलास होटल केस: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी हुए सीबीआई कोर्ट में पेश     ||   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||

सैनिटाइजर का ज्यादा इस्तेमाल आपको कर सकता बीमार, जानें कैसे

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सैनिटाइजर का ज्यादा इस्तेमाल आपको कर सकता बीमार, जानें कैसे

नई दिल्ली। आज हमारे पास भागदौड़ भरी जिंदगी की वजह से समय की कमी भले ही हो लेकिन सेहत को लेकर हम कुछ ज्यादा ही सजग रहते हैं। बसों या फिर कंप्यूटर और मोबाइल पर ज्यादा वक्त बिताने से हमारे हाथों में कीटाणु होने की संभावना ज्यादा होती है। अब लोग खाने से पहले या फिर कुछ और काम करने से पहले हाथों में सैनिटाइजर का इस्तेमाल करते हैं। क्या आपको पता है कि सैनिटाइजर का इस्तेमाल आपके लिए नुकसानदेह भी साबित हो सकता है। एक शोध में इस बात का पता चला है कि सैनिटाइजर आपकी सेहत के लिए खतरनाक है। 

आपको बता दें कि यूनिवर्सिटी ऑफ मेलबर्न की एक हालिया रिसर्च के मुताबिक अल्कोहल बेस्ड हैंड सैनिटाइजर्स सिंपल बैक्टीरिया को सुपरबग में तब्दील कर रहे हैं जो बेहद शक्तिशाली ऐंटीबायॉटिक के प्रति भी प्रतिरोधी हो गए हैं। जिसकी वजह है अल्कोहल बेस्ड हैंड सैनिटाइजर्स का जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल करना। 

कीटाणु मारने के लिए पर्याप्त नहीं

कीटाणुओं को मारने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले सैनिटाइजर 60 फीसदी अल्कोहल के साथ आते हैं। जिसका मतलब यह होता है कि यह कीटाणुओं को पूरी तरह से मारने के लिए पर्याप्त नहीं होते हैं। कहा जा सकता है कि हाथ धोने के लिए साबुन कहीं ज्यादा अच्छा विकल्प है। 

खांसी -जुकाम

यदि आप कम अल्कोहल मात्रा वाले सैनिटाइजर का इस्तेमाल कर रहे हैं तो जान लें इसमें ट्राइक्लोसन की मात्रा ज्यादा होगी। ट्राइक्लोसन एक पावरफुल एंटीबैक्टीरियल एजेंट है। जिसका रोजाना इस्तेमाल करने से आपके पारंपरिक एंटीबायोटिक्स निष्प्रभावी हो जाएंगे। जिसकी वजह से आपको खांसी -जुकाम जैसी बीमारियां जल्दी अपना शिकार बना लेंगी। 


त्वचा शुष्क

हैंड सैनिटाइजर्स का लगातार इस्तेमाल करने से आपकी त्वचा शुष्क और खुरदरी हो सकती है। इसके अलावा कई और तरह के त्वचा रोग भी हो सकते हैं। यही वजह है कि विशेषज्ञ सैनिटाइजर का इस्तेमाल करने के बाद लोशन लगाने की सलाह देते हैं। 

फर्टिलिटी पर बुरा असर

ज्यादातर सैनिटाइजर्स में फालेट्स पाया जाता है, जो कि सेहत के लिहाज से बेहद खतरनाक होता है। इसे सूंघने से यह आपके शरीर में पहुंचकर आपको नुकसान पहुंचा सकता है। इसका सबसे ज्यादा असर व्यक्ति की फर्टिलिटी पर पड़ता है।

सैनिटाइजर्स बैड बैक्टीरिया के साथ-साथ गुड बैक्टीरिया को भी मार देता है ऐसे में यह आपकी इम्युनिटी के लिए बिलकुल भी अच्छा नहीं है। इसके ज्यादा इस्तेमाल से आप जल्दी बीमार पड़ने लगते हैं। 

Todays Beets: