Sunday, August 14, 2022

Breaking News

   टेस्ला के मालिक एलन मस्क को कोर्ट में घसीटने की तैयारी, ट्विटर संग होगी कानूनी जंग    ||   गोवा में कांग्रेस पर सियासी संकट! सोनिया ने खुद संभाला मोर्चा    ||   जयललिता की पार्टी में वर्चस्व की जंग हारे पनीरसेल्वम, हंगामे के बीच पलानीस्वामी बने अंतरिम महासचिव     ||   देशभर में मानसून एक्टिव हो गया है और ज्यादातर राज्यों में जोरदार बारिश हो रही है. भारी बारिश ने देश के बड़े हिस्से में तबाही मचाई है    ||   अगले साल अंतरिक्ष जाएंगे भारतीय , एक या दो भारतीयों को भेजने की योजना है     ||   कोरोना से 24 घंटे में 16678 लोग हुए संक्रमित     ||   उद्धव ठाकरे ने विधायकों को लिखी भावुक चिट्ठी     ||   सुप्रीम कोर्ट मे विजय माल्या का बड़ा झटका, अवमानना मामले में दोषी करार     ||   सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र में विधायकों की अयोग्यता पर फैसला लेने से स्पीकर को रोका     ||   मुठभेड़ में एक आतंकी मारा गया, कुलगाम में बैंक मैनेजर की हत्या में शामिल था: IGP कश्मीर     ||

पीएम मोदी का बड़ा ऐलान ,10 लाख सरकारी पदों पर अगले डेढ़ साल में होंगी भर्तियां

अंग्वाल संवाददाता
पीएम मोदी का बड़ा ऐलान ,10 लाख सरकारी पदों पर अगले डेढ़ साल में होंगी भर्तियां

नई दिल्ली। ​​​​​​देश में सरकारी नौकरी का इंतजार कर रहे लोगों के लिए एक अच्छी खबर है। इस बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद देश में सरकारी नौकरियों में बंपर भर्तियों का ऐलान किया है। पीएम मोदी ने सरकार को निर्देश दिया है कि अगले 1.5 साल में 10 लाख सरकारी भर्तियां की जाएंगी। पीएम मोदी ने यह साफ निर्देश दिए हैं कि इस काम को एक मिशन के तौर पर किया जाए। प्रधानमंत्री मोदी के ऑफिस ने ये जानकारी मंगलवार को ट्वीट करके दी। पीएमओ की ओर से यह ट्वीट ऐसे समय में किया गया है जब विपक्षी दल लगातार केंद्र की मोदी सरकार पर बेरोजगारी के लिए कुछ ना किए जाने का आरोप लगाते आ रहे हैं । 

असल में, PMO ने इस संबंध में ट्वीट किया है। इस ट्वीट में सभी विभागों और मंत्रालयों में मानव संसाधन की स्थिति की समीक्षा की और निर्देश दिया कि सरकार द्वारा अगले 1.5 वर्षों में मिशन मोड में 10 लाख लोगों की भर्ती की जाए। बता दें कि बेरोजगारी के मुद्दे पर मोदी सरकार विपक्ष के निशाने पर रही है। 

विदित हो कि मोदी सरकार के दोनों कार्यकाल में अब तक विपक्षी दलों ने लगातार सरकार को बेरोजगारी के मुद्दे पर घेरा है। हालांकि मोदी सरकार ने बेरोजगारी के मुद्दे पर काम करने के साथ ही युवाओं को अपना रोजगार करने के लिए प्रेरित किया है। 


इससे पहले अप्रैल में पीएम मोदी ने शीर्ष सरकारी अधिकारियों से मुलाकात की थी,  जिसमे उन्होंने सभी सरकारी विभागों में रिक्त पदों को भरने की प्रक्रिया को प्राथमिकता देने के लिए कहा था ।   फरवरी में राज्यसभा में पेश किए गए सरकारी आंकड़ों के मुताबिक 1 मार्च, 2020 तक केंद्र सरकार के विभागों में 87 लाख पद खाली थे, इसके मद्देनजर ही अब मोदी सरकार ने अगले डेढ़ साल के लिए अपनी सरकार का एक नया लक्ष्य तय किया है। 

बता दें कि भारत की शहरी बेरोजगारी दर 2021 की अप्रैल-जून तिमाही में बढ़कर 12.6 प्रतिशत हो गई, जबकि जनवरी-मार्च तिमाही में यह 9.3 प्रतिशत थी। 

Todays Beets: