Wednesday, May 25, 2022

Breaking News

    रोडरेज मामले में सिद्धू को 1 साल कठोर कारावास की सजा, SC ने 34 साल पुराने केस में सुनाई सज़ा    ||   बिहार विधानसभा में कानून व्यवस्था को लेकर हंगामा, CPI-ML के 12 विधायकों को किया गया बाहर     ||   गौतमबुद्ध नगर के तीनों प्राधिकरणों के 49,500 करोड़ नहीं चुका रहीं रियल एस्टेट कंपनियां     ||   आंध्र प्रदेश: गुड़ी पड़वा के जश्न के दौरान भक्तों के बीच मंदिर में मारपीट, दुकानों में तोड़फोड़-आगजनी     ||   दिल्ली एयरपोर्ट पर रोके जाने के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट पहुंचीं राणा अयूब     ||   सोनिया गांधी ने बोला केंद्र पर हमला, लगाया MGNREGA का बजट कम करने का आरोप     ||   केजरीवाल के आवास पर हमला: दिल्ली HC पहुंची AAP, एसआईटी गठन की मांग की     ||   राज्यसभा जा सकते हैं शिवपाल यादव! दो दिन से जारी है बीजेपी मुलाकातों का दौर     ||   यूपी हज समिति के अध्यक्ष बने मोहसिन रजा, राज्यमंत्री का भी दर्जा मिला     ||   दिल्ली: नई शराब नीति के विरोध में BJP, पटेल नगर समेत 14 जगहों पर शराब की दुकानें की सील     ||

रूस के खिलाफ 2.6 लाख वॉलंटियर हैकर्स की ''आईटी सेना'' तैयार , यूक्रेन के मंत्री की पहल पर बनी सेना

अंग्वाल न्यूज डेस्क
रूस के खिलाफ 2.6 लाख वॉलंटियर हैकर्स की

नई दिल्ली । यूक्रेन पर रूस के हमले के बीच अब खबर आ रही है कि यूक्रेन की रक्षा के लिए साइबर स्पेस में करीब ढाई लाख से ज्यादा वॉलंटियर हैकर्स की एक सेना तैयार हो गई है । ऐसे लोगों को हैक्टिविस्ट कहा जा रहा है , जो यूक्रेन के समर्थन में एकजुट हो रहे हैं । साइबर सुरक्षा फर्म सेकोइया के एक एक्सपर्ट लिविया तिबिरना के मुताबिक, अब तक 2 लाख 60 हजार के करीब लोग वॉलंटियर हैकर्स की 'आईटी सेना' में शामिल हो गए हैं। इसे यूक्रेन के डिजिटल मंत्री मायखाइलो फेडोरोव की पहल पर स्थापित किया गया था । 

आईटी आर्मी में शामिल लोग एन्क्रिप्टेड मैसेजिंग सर्विस टेलीग्राम के माध्यम से चीजों को एक्सेस करते हैं । इन लोंगों के कई रूसी कंपनियों और संस्थानों की लिस्ट है, जिसे ये टारगेट करते हैं ।  साइबर आर्मी के प्रभाव को आंकना मुश्किल है । इस आर्मी ने रूस की अंतरिक्ष एजेंसी की भी चिंता बढ़ा दी है । 

पूरे घटनाक्रम के बीच रूस की अंतरिक्ष एजेंसी के प्रमुख रोस्कोस्मोस ने देश के सैटेलाइट के संचालन को बाधित करने की कोशिश कर रहे हैकर्स को चेतावनी दी है कि उनके इस तरह के कामों को 'कैसस बेली, यानी एक ऐसी घटना जो युद्ध को सही ठहराती है' के रूप में समझा जा सकता है ।  


रूसी मीडिया एजेंसी आरटी के मुताबिक, रूस के आरकेए मिशन कंट्रोल सेंटर पर साइबर हमले के तुरंत बाद दिमित्री रोगोजिन की टिप्पणी आई है । उन्होंने कहा था कि जो लोग ऐसा करने का प्रयास कर रहे हैं, उन्हें पता होना चाहिए कि यह एक अपराध है, जिसके लिए बहुत कड़ी सजा की जरूरत होती है । उन्होंने कहा कि किसी भी देश के अंतरिक्ष बलों के संचालन में व्यवधान एक तथाकथित कैसस बेली है, जो एक ऐसी घटना का वर्णन करने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला एक लैटिन शब्द है जो या तो युद्ध की शुरुआत की को सही ठहराता है । 

 

cyber attack    IT army    protest in Russia      attack on Ukraine    Ukraine Russia War    Russia attack on Ukraine    Russia Ukraine Conflict    Eastern Ukraine    ukraine news    ukraine appeal    ukrain allies    sanctions    russia news    डोनेट्स्क      Donetsk    लुहान्स्क    Lugansk    पीपुल्स रिपब्लिक    रूसी राष्ट्रपति    व्लादिमीर पुतिन    पूर्वी यूक्रेन    international news third world war    national news    यूक्रेन पर हमला    रूस ने किया यूक्रेन पर हमला    रूस यूक्रेन युद्ध    तीसरा विश्व युद्ध    रूस यूक्रेन में गतिरोध    अमेरिकी विदेश मंत्री    एंटनी ब्लिंकन    यूक्रेन के सहयोगी देश    यूरोपियन यूनियन    संयुक्त राष्ट्र    सुरक्षा परिषद    रूस में प्रदर्शन    russia ukraine news    ukraine russia news    ukraine news    nasdaq index    russia ukraine latest news    dow jones futures    putin    nato    world map    russia news    crude oil price    nato full form    dow futures    rts index    russian stock market    vladimir putin    world war 3    ukraine map    russia ukraine news in hindi    nato countries    nasdaq futures       

Todays Beets: