Thursday, August 22, 2019

Breaking News

   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||   दिल्ली: प्रगति मैदान के पास निर्माणाधीन इमारत में लगी आग    ||   मध्य प्रदेश: टेरर फंडिंग मामले में 5 हिरासत में, जांच जारी     ||   जिन्होंने 72 हजार देने का वादा किया था, वे 72 सीटें भी नहीं जीत पाए : मोदी     ||   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अगस्त को दिन में 11 बजे करेंगे मन की बात     ||   कोलकाता के पूर्व मेयर और TMC विधायक शोभन चटर्जी, बैसाखी बनर्जी BJP में शामिल     ||   गुजरात में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकी, सुरक्षा एजेंसियों का राज्य पुलिस को अलर्ट     ||   अयोध्या केस: मध्यस्थता की कोशिश खत्म, कल सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई     ||   पोंजी घोटाला: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया आरोपी मंसूर खान     ||

चुनाव से पहले भाजपा नेता का विवादित बयान, हिंदू-मुस्लिम ध्रुवीकरण का आरोप

अंग्वाल न्यूज डेस्क
चुनाव से पहले भाजपा नेता का विवादित बयान, हिंदू-मुस्लिम ध्रुवीकरण का आरोप

नई दिल्ली। चुनाव से पहले राजस्थान के बांसवाड़ा से भाजपा के विधायक और पंचायतीराज राज्यमंत्री धन सिंह रावत ने एक विवादित बयान दिया है। एक चुनावी सभा में कहा, ‘‘राजस्थान में जितने भी हिंदू हैं उन सभी हिंदुओं को एकजुट भाजपा को वोट देना है। अगर कांग्रेस के साथ जुड़ कर सारे मुस्लिम मतदान कर सकते हैं तो सारे हिंदू भाजपा के साथ जा सकते हैं और प्रचंड बहुमत से भाजपा को जिता सकते हैं।’’ चुनाव से पहले दिए गए उनके इस बयान को हिंदू-मुस्लिम ध्रुवीकरण करने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है। 

गौरतलब है कि राजस्थान के पंचायतीराज राज्य मंत्री ने यह बयान शुक्रवार को दिया था लेकिन अब यह सामने आया है। बता दें कि धन सिंह रावत कुछ महीनों पहले भी सुर्खियों में आए थे जब उनके बेटे राजा का बीच सड़क में खुलेआम एक कार सवार को बेरहमी से पीटने का वीडियो वायरल हुआ था। प्रशासन की ओर से मामले में ढिलाई बरतने पर काफी किरकिरी हुई थी। 


ये भी पढ़ें - इंडोनेशिया में 188 यात्रियों को ले जा रहा विमान हुआ क्रैश, समुद्र में मिला मलबा

यहां बता दें कि बांसवाड़ा के विधायक पहले भी अपने विवादित बयानों की वजह से चर्चा में रहे हैं। पिछले साल धन सिंह रावत ने जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ बैठक में अधिकारी को मुर्गा बनाने की चेतावनी दी थी। उससे पहले उन्होंने जिला परिषद की साधरण बैठक में विकास अधिकारियों के लिए कहा था कि ये अरबी घोड़े हैं इन्हें चाबुक मारो। 

Todays Beets: