Sunday, November 1, 2020

Breaking News

   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||   लक्ष्मी विलास होटल केस: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी हुए सीबीआई कोर्ट में पेश     ||   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||

देहरादून में बनेगा भव्य शौर्य स्थल , CM रावत ने सीतोंस्यू में सीता माता मंदिर बनाए जाने पर मंथन बैठक की

अंग्वाल न्यूज डेस्क
देहरादून में बनेगा भव्य शौर्य स्थल , CM रावत ने सीतोंस्यू में सीता माता मंदिर बनाए जाने पर मंथन बैठक की

देहरादून । मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने मंगलवार को सचिवालय में शौर्य स्थल की स्थापना के संबंध में बैठक ली। इस दौरान उन्होंने कहा कि देहरादून में भव्य शौर्य स्थल बनाया जाएगा । इस शौर्य स्थल को अत्याधुनिक बनाया जाएगा, जिसमें हमारे जवानों की वीरता की झलक देखेगी । सीएम ने इस दौरान अफसरों को शौर्य स्थल के लिए स्थान चयन के लिए राजस्व, सैनिक कल्याण, वन विभाग एवं सबंधित विभागों को संयुक्त निरीक्षण करने के निर्देश दिए । मुख्यमंत्री ने कहा कि शौर्य स्थल के लिए स्थान चयन हेतु एक सप्ताह के अन्दर भ्रमण कर रिपोर्ट दी जाए । शौर्य धाम के लिए चयनित जगह पर वाहनों की पार्किंग के लिए अलग से व्यवस्था की जाएगी । 

वहीं सीएम ने सचिवालय में आयोजित बैठक में सीतोंस्यू में सीता माता मंदिर बनाए जाने पर चर्चा की । बता दें कि सीता माता के मन्दिर निर्माण के लिए एक राज्य स्तरीय ट्रस्ट बनाया जाएगा ,  जिसके अध्यक्ष मुख्यमंत्री होंगे। मुख्यमंत्री रावत ने इस दौरान कहा कि यह मंदिर धार्मिक संस्थाओं एवं जन सहयोग से बनाया जाएगा । इस मंदिर के लिए सीता माता से जुड़े सभी स्थानों की शिला, मिट्टी एवं जल लाया जाएगा । इसके साथ ही उत्तराखण्ड के सभी 13 जनपदों से कुछ लोगों की कमेटी बनाकर उत्तराखण्ड के मंदिरों की शिला एवं मिट्टी सीता माता मंदिर के लिए लाई जाएगी । 

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि सीता माता मंदिर के समीप जटायु का मंदिर बनाया जायेगा। यह मंदिर ऐसे स्थान पर बनाया जायेगा, जहां से सीता माता मंदिर के दर्शन भी हों। सीतोंस्यू में जिस स्थान पर सीता माता ने समाधि ली थी, उस स्थान पर प्राचीन स्वरूप को वैसा ही रखा जायेगा।  उन्होंने कहा कि देवप्रयाग से सीतासैंण तक श्रद्धालुओं के लिए आवागमन हेतु उचित व्यवस्थाएं की जायेंगी।


इस बैठक में  मेयर श्री सुनील उनियाल गामा, अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर, सचिव सुशील कुमार, जिलाधिकारी पौड़ी धीराज गर्ब्याल आदि उपस्थित थे।

 

Todays Beets: