Friday, September 20, 2019

Breaking News

   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||   दिल्ली: प्रगति मैदान के पास निर्माणाधीन इमारत में लगी आग    ||   मध्य प्रदेश: टेरर फंडिंग मामले में 5 हिरासत में, जांच जारी     ||   जिन्होंने 72 हजार देने का वादा किया था, वे 72 सीटें भी नहीं जीत पाए : मोदी     ||   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अगस्त को दिन में 11 बजे करेंगे मन की बात     ||   कोलकाता के पूर्व मेयर और TMC विधायक शोभन चटर्जी, बैसाखी बनर्जी BJP में शामिल     ||   गुजरात में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकी, सुरक्षा एजेंसियों का राज्य पुलिस को अलर्ट     ||   अयोध्या केस: मध्यस्थता की कोशिश खत्म, कल सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई     ||   पोंजी घोटाला: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया आरोपी मंसूर खान     ||

हेमवती नंदन बहुगुणा यूनिवर्सिटी ने बदला अपना फैसला , छात्रों के धरने पर बैठने के बाद पूर्वनिर्धारित 3 सितंबर को ही चुनाव का ऐलान

अंग्वाल न्यूज डेस्क
हेमवती नंदन बहुगुणा यूनिवर्सिटी ने बदला अपना फैसला , छात्रों के धरने पर बैठने के बाद पूर्वनिर्धारित 3 सितंबर को ही चुनाव का ऐलान

श्रीनगर । हेमवती नंदन बहुगुणा केंद्रीय गढ़वाल विश्वविद्यालय में छात्रसंघ चुनावों को लेकर अपना फैसला पलट दिया है । विवि ने छात्रों के आक्रोश को देखते हुए अपना फैसला बदला। इसके बाद अब पहले की तरह 3 सितंबर को ही छात्रसंघ चुनाव कराए जाएंगे। इससे पहले विश्वविद्यालय के गुस्साए छात्रों ने  कुलपति के ऑफिस पहुंचकर जमकर नारेबाजी की । इसके बाद छात्र रजिस्ट्रार आवास के बाहर धरने पर बैठ गए थे, जिसके चलते विवि को अपना फैसला बदलना पड़ा। 

विदित हो कि HNB central university के छात्र विश्वविद्यालय द्वारा छात्रसंघ चुनाव के चुनाव स्थिगित करने के चलते  गुस्से में थे । इसी क्रम में छात्रों का हंगामा जारी था । गत गुरुवार को भी आक्रोशित छात्र नेताओं ने बिड़ला परिसर में मुख्य चुनाव अधिकारी प्रो. एसएन बहुगुणा का घेराव किया था। जब मुख्य नियंता प्रो. अरुण बहुगुणा चुनाव संचालन समिति के सदस्यों को चुनाव कार्यालय से बाहर ले जाने लगे, तो छात्रों ने दरवाजे बंद कर दिए थे। असल में गुरुवार को बिड़ला परिसर में चुनाव संचालन समिति की ओर से छात्रसंघ चुनाव लड़ रहे प्रत्याशियों के नामों की घोषणा होनी थी, लेकिन मीडिया में यह खबर प्रकाशित हो गई कि हाईकोर्ट ने विवि की नियमावली के अनुसार तीन माह के अंदर छात्र परिषद के चुनाव कराने के आदेश दिए हैं। दोपहर तक विवि को अधिवक्ता के माध्यम से हाईकोर्ट के आदेश की भी जानकारी मिल गई।


शाम को विवि के कुलसचिव डा. एके झा ने आदेश जारी करते हुए चुनाव प्रक्रिया रोकने के निर्देश दिए। कुलसचिव का पत्र मिलने के बाद शाम चार बजे मुख्य चुनाव अधिकारी प्रो. बहुगुणा ने चुनाव प्रक्रिया स्थगित कर दी। जब छात्रों को इसका पता चला, तो उन्होंने चुनाव कार्यालय में घुसकर मुख्य चुनाव अधिकारी का घेराव कर दिया। छात्रों का गुस्सा देखते हुए व्हाट्सएप से कोर्ट के आदेश की प्रति मंगवाई गई, जो उनको व्हाट्सएप के माध्यम से दे दी गई। लेकिन छात्र इस पर भी पहले संतुष्ट नहीं हुए। उनका कहना था कि कोर्ट ने छात्रसंघ चुनाव निरस्त करने को नहीं कहा है, इसलिए इस प्रक्रिया को रोका न जाए।

इसके चलते शुक्रवार को आक्रोशित छात्रों ने पहले तो कुलपति के ऑफिस पहुंचकर जमकर नारेबाजी की । इसके बाद छात्र रजिस्ट्रार आवास के बाहर धरने पर बैठ गए। मामले को गर्माता देख विवि ने पूर्व निर्धारित समय 3 सितंबर को चुनाव करवाए जाने का ऐलान कर दिया।

Todays Beets: