Tuesday, June 25, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

अब निजी स्कूल नहीं वसूल सकेंगे मनमानी फीस, सरकार लागू कर सकती है फीस एक्ट

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अब निजी स्कूल नहीं वसूल सकेंगे मनमानी फीस, सरकार लागू कर सकती है फीस एक्ट

देहरादून। नए साल में निजी स्कूल अब अभिभावकों से मनमानी फीस की वसूली नहीं कर पाएंगे। सरकार नए सत्र से ही फीस एक्ट लागू कर सकती है। मुख्यमंत्री आवास पर हुई बैठक के बाद शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने कहा कि फीस के स्लैब को स्कूलों में मौजूद सुविधाओं के आधार पर तैयार किया जा रहा है। शिक्षा मंत्री ने मंगलवार को इस बारे में निर्णय लेने के लिए शिक्षा अधिकारियों की बैठक बुलाई है। उम्मीद की जा रही है कि इसी हफ्ते सारे स्लैब तैयार कर लिए जाएंगे। स्लैब स्कूलों की ट्यूशन फीस पर होगा।

गौरतलब है कि अगर कोई स्कूल छात्रों को अतिरिक्त सुविधाएं दे रहा है तो वह उसका शुल्क तय कर सकता है। सरकार की ओर से कोशिश की जा रही है कि शैक्षिक सत्र 2018-19 से इसे लागू कर दिया जाएगा। बता दें कि प्रदेश में पिछले 3 सालों से फीस एक्ट लागू करने की सिर्फ बातें की जा रही हैं। कांग्रेस के शासनकाल में भी इसे लागू करने की योजना बनी लेकिन अमल में नहीं लाया जा सका।

ये भी पढ़ें - नए साल में अटक सकती हैं प्रदेश की कई योजनाएं, भूमि हस्तांतरण की विशेष छूट हुई खत्म


यहां बता दें कि नए शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे भी 1 साल से ज्यादा समय से फीस एक्ट को लागू करने की बात कर रहे हैं लेकिन उस पर अब तक अमल नहीं हुआ है। आपको बता दें कि शिक्षा विभाग ने अतिथि शिक्षक भर्ती के लिए अभ्यर्थियों की जिलावार मेरिट लिस्ट को अंतिम रूप दे दिया है। गौर करने वाली बात है कि  5034 पदों के लिए 70 हजार बेरोजगारों ने आवेदन किया है। शिक्षा मंत्री ने बताया कि नियुक्ति प्रक्रिया जल्द पूरी की जाएगी।

Todays Beets: