Tuesday, January 21, 2020

Breaking News

   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक, मोटरसाइकिल काफिले के सामने आया शख्स     ||

हरीश रावत ने कांग्रेसियों पर ही साधा निशाना, बोले- ' गैरसैंण के मुद्दे पर त्रिवेंद्र सरकार को घेरो'

अंग्वाल संवाददाता
हरीश रावत ने कांग्रेसियों पर ही साधा निशाना, बोले-

देहरादून । उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हरीश रावत (Harsih Rawat) ने विधानसभा का शीतकालीन सत्र देहरादून में बुलाए जाने के मुद्दे पर अपनी ही पार्टी के नेताओं को आड़े हाथ लिया है । शीतकालीन सत्र गैरसैंण में न बुलाए जाने पर हरीश रावत ने कांग्रेसी नेताओं को जहां नसीहत दी , वहीं राज्य की त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार को भी आड़े हाथों लिया । हरीश रावत ने अपनी ही पार्टी के नेताओं को नसीहत देते हुए कहा - जनता के मुद्दों को कांग्रेस जोश-शोर से उठाएं । चुनावों में मिल रही लगातार हार से कांग्रेस थोड़ी सुस्त हो गई है ,  जिससे उसके हौसले थोड़े पस्त हो गए हैं । पार्टी को जनहित के मुद्दों को उठाना चाहिए । 

विदित हो कि राज्य गठन के बाद से राजनीति के केंद्र में रहे गैरसैंण के मुद्दे पर एक बार फिर सदन में हंगामा हो सकता है । इससे पहले ही हरीश रावत ने अपने नेताओं को जनता के मुद्दे को जोरशोर से उठाने के लिए कहा । असल में इस समय प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पास राज्य सरकार को घेरने के लिए कोई बड़ा मुद्दा नजर नहीं आ रहा है । ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि कांग्रेस गैरसैंण के मुद्दे को एक बार फिर आधार बनाकर सियासत करने की रणनीति बना रही है । 


आपको बता दें कि 2014 के बाद ये पहला मौका है, जब किसी वर्ष में गैरसैंण में विधानसभा का कोई सत्र नहीं होगा । विधानसभा सचिवालय की ओर से पिछले दिनों जारी हुई अधिसूचना में सत्र 4 दिसंबर से देहरादून में होने की बात है । इस सत्र के 10 दिसंबर तक चलने की संभावना है , लेकिन गैरसैंण में सत्र नहीं होने के मुद्दे पर अब कांग्रेस उसे उठाने की रणनीति बना रही है । 

Todays Beets: